पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों के विरोध में कांग्रेस ने किया प्रदर्शन

 जिला मुख्यालय पर राष्ट्रपति के नाम एसडीएम को सौंपा ज्ञापन 


गुना / देश में लगातार बढ़ रहे डीजल पेट्रोल के दामों के विरोध को लेकर प्रदेशव्यापी आंदोलन के तहत कांग्रेस पार्टी ने बुधवार को जिला मुख्यालय पर राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन एसडीएम गुना को सौंपा गया। जिसमें मांग की गईं है कि वर्ष 2014 में महंगाई कम करने के नाम पर सत्ता में आई भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार द्वारा लगातार डीजल और पेट्रोल के दामों में वृद्धि की जा रही है। ऐसे में डीजल पेट्रोल के दामों से देश की जनता को समस्त वस्तुएं में महंगाई का सामना करना पड़ रहा है। जिससे आम आदमी का जीवन यापन करना दुर्लभ हो गया है पिछले 3 माह से भारत देश कोविड-19 की बीमारी से जूझ रहा है। जहां असंख्य लोगों के काम धंधे व रोजगार चौपट हो गए हैं वहीं अनेक मजदूर वर्ग के लोग  केंद्र सरकार की अकुशल नीति के कारण काल के गाल में समा गए हैं। देश में कोरोना लॉकडाउन के कारण पेट्रोल डीजल की खपत कम होने के कारण अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे दामों में गिरावट होने के बाद भी केंद्र की मोदी सरकार ने बार-बार एक्साइज ड्यूटी बढ़ाकर डीजल पेट्रोल के दामों में बढ़ोत्तरी कर आम आदमी की पहुंच से दूर कर दिया है। मध्य प्रदेश की जनता द्वारा चुनी गई सरकार को भारतीय जनता पार्टी ने भ्रष्ट तरीके से कांग्रेस की सरकार गिराकर लोकतंत्र का गला घोटा है एवं मध्यप्रदेश  देश का ऐसा राज्य है जहां सर्वाधिक वेट टैक्स लगाकर जनता पर महंगाई का बोझ डाला जा रहा है। किसानों की हितेषी बताने वाली शिवराज सरकार ने खरीफ की फसल के समय किसान के खेत की हकाई और बोवनी के समय डीजल के दाम बढ़ाकर गरीब किसानों को निराश करने का कार्य किया है। इस मौके पर जिला अध्यक्ष द्व्य हरिशंकर विजयवर्गीय, मानसिंह परसोदा,कैलाश शर्मा पूर्व विधायक, महावीर पांड्या, सुमेर सिंह गढ़ा, अशोक भारद्वाज, सत्यप्रकाश विजयवर्गीय,  रतन सोनी, मुरारी धाकड़, हनुमन्त सिंह, पवन रघुवंशी, रमेश पटेलिया,  वीरेंद्र सिंह, शेखर वशिष्ठ, चंदू तिवारी, विशबनाथ तिबारी, राजेंद्र तिवारी, गोपाल शर्मा, दीपेश पाटनी, रजनीश शर्मा ,वीरेंद्र पाण्डेय, शिवप्रताप सिंह,रूपकिरण कौर आदि अनेक कार्यकर्ता शामिल रहें।

Post a Comment

0 Comments