टेकरी सरकार पर हुई चोरी के मामले में पुलिस चार दिन बाद भी खाली हाथ


गुना। शहर के प्रसिद्ध हनुमान टेकरी मंदिर में चोरी की वारदात होने के चार दिन बाद भी पुलिस को कोई अहम सुराग हाथ नहीं लगा है। पुलिस ने मंदिर के कैमरों की रिकॉर्डिंग भी खंगाली लेकिन कुछ ठोस सबूत नहीं मिला सका। प्राप्त जानकारी के अनुसार हनुमान मंदिर टेकरी पर हुई चोरी के मामले में कैंट थाना पुलिस को चार दिन बाद भी कोई अहम सफलता हाथ नहीं लगी है। वही टेकरी पर लगे 6 कैमरों की रिकॉर्डिंग भी बारीकी से देखकर लगभग सैकड़ों जीबी डाटा पुलिस ने खंगाला, लेकिन इसमें भी कोई संदिग्ध फिलहाल नजर नहीं आया। इसमें बड़ी बात यह है कि चोर बनियान पहने हुए थे, और मुंह पर कपड़ा लगाएं थे। ऐसे में चोरी से पहले की फुटेज में चोर शर्ट और पैंट पहन कर आए होंगे ऐसा सूत्र बताते हैं। जिनका मिलान चोरों के फुटेज से नहीं हो सका। इस बारे में कैंट थाना प्रभारी  योगेन्द्र सिंह ने बताया कि पुलिस द्वारा लगातार संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है। जल्दी मामला सुलझा लिया जाएगा।
उल्लेखनीय है कि टेकरी हनुमान मंदिर से गुरुवार-शुक्रवार रात को चोरी हुई है। चोर यहां पीछे की ओर से चढ़कर आए थे। इसके बाद मंदिर में अंदर रखे दान-पात्रों को तोड़कर दान के रुपये चोरी कर ले गए। इस राशि का स्पष्ट रूप से आंकलन नहीं किया जा सका, लेकिन दान पात्रों में 50 हजार रुपये करीब बताए गए हैं। वारदात के बाद कैंट थाना पुलिस ने अज्ञात चोरों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था। पुलिस ने मंदिर के फुटेज देखे, तो इसमें चोरों की संख्या पांच नजर आई। यह सभी अपना मुंह ढंके हुए थे। चोरी के समय मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था में तैनात दोनों निजी सुरक्षाकर्मी यहां मौजूद नहीं थे। वह मंदिर के नीचे वाले हिस्से में सो रहे थे। उसी दिन तत्काल घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक तरुण नायक द्वारा आरोपियों से संबंधित सूचना देने पर दस हजार रूपये व पूर्व विधायक राजेंद्र सिंह सलूजा द्वारा ग्यारह हजार रूपये की नगद राशि इनाम में देने की घोषणा की गईं थी तथा सोमवार को शहर के व्यवसायी उमर खान (अल ताइफ़ मोटर्स) ने जिला पुलिस अधीक्षक से भेंट कर उक्त चोरी की जाँच पड़ताल कर रही पुलिस टीम के लिए चोर पकड़े जाने पर पांच हज़ार रुपए इनाम देने की घोषणा की है।

Post a Comment

0 Comments