संपूर्ण लॉकडाउन जैसा दिखा कलेक्टर का साप्ताहिक अवकाश के आदेश का असर

रविवार को शहर के मुख्य बाजारों से लेकर गली-मोहल्लों में पसरा रहा सन्नाटा


गुना। शहर में काफ़ी समय से कहने को तो मंगलवार को साप्ताहिक अवकाश हमेशा होता रहा है मगर इसका असर बहुत  कम ही दिखाई देता था। इस बार कलेक्टर के नए आदेश के बाद अब रविवार से शहर में साप्ताहिक अवकाश  शुरू हुआ है। जिसका असर रविवार को देखने को मिला। इस दौरान समूचा शहर ऐसे बंद रहा जैसा संपूर्ण लॉकडाउन के दौरान देखने को मिलता था । इस दौरान शहर की हर दुकान व बाजार पूरी तरह बंद रहे। शहर के मुख्य बाजारों सहित गली-मोहल्लों में दुकानें बंद होने के कारण सन्नााटा छाया रहा।
दरअसल लॉकडाउन के दौरान नए प्रशासनिक आदेशों के चलते साप्ताहिक बाजार मानो कहीं खो सा गया था। साप्ताहिक अवकाश को लेकर व्यापारियों में मंगलवार या रविवार को लेकर असमंजस था। गत दिवस लक्ष्मीगंज व्यापारी संघ द्वारा स्वयं आगे बढ़कर प्रशासन से साप्ताहिक अवकाश लागू कराने की मांग की गईं थी, जिसके बाद कलेक्टर एस.विश्वनाथन द्वारा गत सोमवार को आदेश जारी कर प्रति रविवार को साप्ताहिक अवकाश रखने की घोषणा की थी। वैसे गुमाश्ता कानून के तहत गुना में मंगलवार को साप्ताहिक अवकाश रहता है मगर अब तक इसका कोई पालन करता नजर नहीं आता था। गुमाश्ता विभाग ने भी कभी इसके लिए कोई विशेष कार्रवाई नहीं की। दुकानदार अपनी स्वेच्छा से दुकान खोलना ओर दुकान बंद करता था वह भी कभी-कभी। नए आदेश के तहत अब प्रति रविवार को शहर बंद रहेगा। इसका असर भी देखने को मिलने लगा। रविवार को पहली बार दुकानदारों ने गुमाश्ता नियमों का पालन करते हुए दुकानें बंद रखी व साप्ताहिक अवकाश मनाया। रविवार को साप्ताहिक अवकाश के कारण पूरे दिन बाजार में सन्नााटा छाया रहा। सिर्फ ठेले पर सब्जी बिकती नजर आई। इसके अलावा आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई हुई। साप्ताहिक अवकाश के कारण प्रशासन ने भी पूरे दिन राहत की सांस ली। न तो किसी प्रकार की अव्यवस्था और न ही बाजार में भीड़ हुई। साप्ताहिक अवकाश के निर्णय का आम नागरिकों ने स्वागत कर इसे सख्ती के साथ पालन कराने की मांग की।

Post a Comment

0 Comments