जल्‍दी ही पटरियों पर दौड़ेंगी 151 प्राइवेट ट्रेनें, रेलवे ने शुरू की तैयारी

रेलवे जल्द ही तेजस एक्सप्रेस की तर्ज पर 151 निजी ट्रेनों को चलाने जा रहा है 


नई दिल्ली / रेलवे जल्दी ही तेजस एक्सप्रेस की तर्ज पर 151 निजी ट्रेनों को चलाने जा रहा है, जिसके लिए कवायद को शुरू कर दिया गया है। अब रेलवे ने 109 रूट पर चलने वाली इन ट्रेनों के लिए निजी कंपनियों से टेंडर मंगाए हैं फिलहाल देश में आईआरसीटीसी दो निजी तेजस ट्रेनों का संचालन कर रहा है। मंत्रालय के मुताबिक निजी ट्रेन चलाने से जहां कई लोगों को रोजगार मिलेगा, वहीं यात्रियों को आने-जाने में कम समय लगेगा। इतना ही नहीं यात्रियों को बढ़िया सुरक्षा और विश्व स्तरीय सुविधाएं भी मिलेंगी। यह पहली बार है जब रेलवे ने निजी कंपनियों से भी ट्रेन चलाने के लिए टेंडर मंगाए हैं।  यह ट्रेनें रेलवे के 12 जोन में चलाई जाएंगी.
सरकार शर्तो के अधीन इन ट्रेनों को चलाने की तैयारी में है।
जिसमें ट्रेन का रेक मेक इन इंडिया होना चाहिए, रेक को लाने और उसका परिचालन व रखरखाव की जिम्मेदारी निजी ऑपरेटर्स की होगी। ट्रेन की अधिकतम रफ्तार 160 किमी प्रति घंटा होगी,इससे यात्रा के समय में कटौती होगी।
रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने कहा कि सभी प्राइवेट ट्रेनों में ड्राइवर्स और गार्ड्स भारतीय रेलवे के होंगे। 95 फीसदी संचालन में प्रदर्शन के मानकों का पालन नहीं होता है तो उनपर जुर्माना लगाया जाएगा। इसके साथ ही यादव ने कहा कि भागीदारी के साथ-साथ ट्रेनें भी निजी कंपनियों को ही लानी होंगी और उनकी देखभाल भी उन्हीं के जिम्मे होगी।
शुरुआत में सभी प्राइवेट ट्रेनें क्लस्टर अनुसार चलेगी जिसमें एक क्लस्टर में 6 से 12 ट्रेनें रहेगी यह क्लस्टर - बेंगलुरू, चंडीगढ़, चेन्नई, जयपुर, दिल्ली, मुंबई, पटना, प्रयागराज, सिकंदराबाद, हावड़ा होंगे।

Post a Comment

0 Comments