अतिक्रमण करने वालों पर हुई कार्रवाई

CLICK -  

गुना। (प्रदेश केसरी) जगनपुर चक में शासकीय जमीन पर कब्जा हटाने के दौरान विरोध करते हुए जहरीला कीटनाशक पीने के मामले में प्रशासन द्वारा दंपत्ति पर मामला दर्ज किया है। कलेक्टर विश्वनाथन ने बताया कि गुना जिले के लिए नवीन आदर्श महाविद्यालय स्वीकृत होकर 12 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए है। जून 18 में ग्राम जगनपुर स्थित भूमि सर्वे नं. 13/1 व 13/4 रकवा क्रमश: 2.090 व 2.090 है, को महाविद्यालय के लिए आरक्षित की गई थी। उक्त भूमि पर अतिक्रमण होने से तहसीलदार दारा अतिक्रमकों के विरूद्ध नवंबर 2019 में बेदखली की कार्यवाही की गई व कब्जा जमा शिक्षा विभाग को दिया गया। आयुक्त उच्च शिक्षा मध्यप्रदेश द्वारा जून 20 में कार्य प्रारंभ न करने पर उक्त महाविद्यालय दूसरे जिले में आंतरित करने का पत्र लिखे जाने पर पत्र का संज्ञान लेते हुए स्थल का निरीक्षण कर तहसीलदार को कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया गया।
उन्होंने बताया कि तहसीलदार ने अतिक्रमक गब्बू् पारदी कथित बटाईदार राजकुमार अहिरवार पुत्र मांगीलाल का कब्जा हटाने के लिए बदखली कि कार्यवाही के दौरान 14 जुलाई 20 को पुलिस बल की उपस्थिति में सीमांकन करवाया तथा बेदखली की गई। जिस समय कार्यवाही चल रही थी उसी समय राजकुमार अहिरवार व उसकी पत्नि सावित्रीबाई पेस्टिसाईड पी लिया। अतिक्रमक अस्पताल जाने से इन्कार कर रहे थे। मुख्य अतिक्रामक गब्बू पारदी की ओर से राजकुमार व सावित्री बाई के अतिरिक्त अन्य लोगों को भी जिनमें बच्चे भी शामिल हो सकते थे पेस्टिसाईड पीने के लिए उकसाया जा रहा था तथा अस्पताल ले जाने से इन्कार किया जा रहा था। जिससे जन हानि की संभावना बलवती हो चली थी। अत. कानून और व्यवस्था की गंभीर स्थिति को ध्यान में रखते हुए जनहानि का रोकने के उद्देश्य से सख्ती से स्थल से हटाया गया। सावित्री बाई को अलग किया, स्थिति को नियंत्रित कर व्यवस्था कायम की गई तथा जनहानि की संभावना को समाप्त किया गया। वर्तमान में राजकुमार व सावित्री बाई की स्थिति में अपेक्षाकृत सुधार हुआ है।

Post a Comment

0 Comments