अधिवक्ताओं को हमेशा नए कानूनों का ज्ञान रखना आवश्यक - श्री कोष्टा

पैनल अधिवक्ताओं के वर्चुअल प्रशिक्षण कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ

CLICK -  

गुना। (प्रदेश केसरी) विधि व्यवसाय ऐसा शस्त्र है जो शास्त्र के माध्यम से अपने लक्ष्य तक पहुंचता है। इसलिए अधिवक्ताओं में अध्ययन की प्रवृत्ति हमेशा बनी रहनी चाहिए तथा कानून के नवीन प्रावधानों से अपने आप को अपडेट रखना चाहिए। उक्त विचार जिला न्यायाधीश राजेश कुमार कोष्टा द्वारा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा पैनल अभिभाषकों के लिए आयोजित की जा रहे दो दिवसीय वर्चुअल प्रशिक्षण कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर प्रकट किए। कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों द्वारा मां सरस्वती की प्रतिमा पर दीप प्रज्जवलन व पुष्र्पापण कर किया। इस अवसर पर विशेष न्यायाधीश प्रदीप मित्तल, अपर जिला जज एके मिश्र, अपर जिला जज  हर्ष सिंह बहरावत, जिला विधिक सहायता अधिकारी दीपक शर्मा सहित पैनल अधिवक्तागण ऑनलाईन सम्मिलित हुए। ऑनलाईन प्रशिक्षण कार्यक्रम में अपर जिला जज हर्ष सिंह बहरावत द्वारा प्राथमिक, द्वितीयक एवं इलैक्ट्रॉनिक साक्ष्य, प्रधान न्यायाधीश कुटुम्ब न्यायालय नदीम खान द्वारा पारिवारिक मामले, वैवाहिक विधि, दत्तक गृहण एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी तनवीर खान ने घरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम, 2005 एवं भरण पोषण से संबंधित विधि के विषय में विस्तार से प्रशिक्षण प्रदान किया। इस अवसर पर पैनल अभिभाषकों की समस्याओं का समाधान भी किया। वर्चुअल प्रशिक्षण कार्यक्रम को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से सिस्टम ऑफिसर,  जिला न्यायालय गुना दिवाकर पाण्डे द्वारा होस्ट किया गया।

Post a Comment

0 Comments