चोरी से छात्रों को पढ़ा रहे थे कोचिंग संचालक, एसडीएम ने की कार्रवाई


CLICK -  

भोपाल / कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए सरकार ने स्कूल-कॉलेज के अलावा सभी तरह के कोचिंग सेंटरों को बंद करने के निर्देश दिए हैं, लेकिन लहार( भिंड ) कस्बे में कुछ शिक्षक चोरी छुपे कोचिंग सेंटर संचालित कर छात्रों को पढ़ा रहे थे। घटना दो दिन पूर्व की है। मंगलवार को सूचना पर एसडीएम आर.के. प्रजापति ने बीईओ शिवराजसिंह के साथ नगर में तीन कोचिंग सेंटरों पर कार्रवाई की। ज्ञात हो कि  कोरोना संक्रमण के अनलॉक के बाद नगर में कुछ शिक्षकों ने कोचिंग सेंटरों को चालू कर दिया था। जबकि जिले सहित पूरे प्रदेश में लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीज मिल रहे हैं। बावजूद नगर मे कुछ शिक्षकों ने कोचिंग सेंटरों को चालू कर दिया था। कोचिंग पर एक साथ 20 से 25 बच्चे पहुंच रहे थे। यह बच्चे मास्क और सैनिटाइजर का भी उपयोग नहीं कर रहे थे। एसडीएम प्रजापति को जानकारी  मिली थी कि कोचिंग सेंटरों पर बच्चे पढ़ाएं जा रहे हैं। इसलिए मंगलवार को एसडीएम ने बीईओ के साथ छापामार कार्रवाई की। एसडीएम प्रजापति सुबह सबसे पहले पुरानी सब्जी मंडी स्थित इंग्लिश कोचिंग पर गए। कोचिंग पर सेंटर शिक्षक राघवेन्द्र सेंगर एक कमरे में 30 छात्र-छात्राओं को बैठकर पढ़ा रहे थे। कमरे में जगह कम होने के कारण छात्र एक-दूसरे से सटकर बैठे हुए थे। साथ ही एक भी बच्चा मास्क भी नहीं लगाए हुए था। सेंटर पर सैनिटाइजर की व्यवस्था नहीं थी। दूसरा मामला बीसासेन रोड पर शिक्षक ज्ञानसिंह यादव के द्वारा 14 छात्रों को सटकर बैठाकर पढ़ा रहे थे। पढ़ाई कर रहे छात्रों के पास मास्क भी नहीं थी। इसी तरह गणित की कोचिंग सेंटर पर शिक्षक केशव झा 8 छात्रों को पढ़ा रहे थे। इसके अलावा 2 अन्य शिक्षक रामबरनसिंह बघेल और राजवीरसिंह शाक्य कोचिंग संचालित कर बच्चों को पढ़ाई करा रहे थे।

Post a Comment

0 Comments