लापरवाह भीड़ को देख बोलें कलेक्टर, हालात चिंताजनक अब हम सख्त करेंगे कार्यवाही

मास्क लगाने और निजी डॉक्टरों को सार्थक लाईट एप्प डाउनलोड करने के दिए  सख्त निर्देश

CLICK -  

गुना। (प्रदेश केसरी) शहर में पिछले दिनों दो मामलों में हुई मौतों को देखते हुए अब  कोरोना संक्रमण के फैलाव को हल्के में नहीं लें। यह बहुत चिंताजनक है, लोग अपना ईलाज घर पर करा रहे हैं। जब स्थिति बिगड़ती है तो अस्पताल पहुंचते हैं तब तक मौत हो जाती है। शासन ने लोगों की आर्थिक एवं जरूरी गतिविधियां चलती रही इसलिए लॉकडाउन खत्म किया था। लेकिन इसके लिए जरूरी मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, सेनेटाईजर रखना जरूरी था। लेकिन पिछले कुछ दिनों से मैं देख रहा हूं लोग इसका पालन नहीं कर रहे हैं। गत दिवस एक धार्मिक स्थल पर भारी भीड़ दिखी। जबकि शासन के स्पष्ट आदेश है  कि भीड़ न जुटे। धार्मिक भावनाएं, धार्मिक क्रियाएं का एक अपना मंतव्य है लेकिन स्वास्थ्य की कीमत पर नहीं। उक्त निर्देश कलेक्टर कुमार पुरूषोत्तम ने धारा 144 के तहत जारी आदेशों को सख्ती से अमल कराने की हिदायत देते हुए दिए। उन्होंने कहा कि हम अब नियमों को लेकर सख्ती करने जा रहे हैं। जो भी मास्क नहीं लगा रहा है उस पर चालानी कार्रवाई की जाएगी। बाजार में भी दुकानदार सोशल डिस्टेंसिंग नहीं रख रहे, बिना मास्क के दुकानदार सामान बेच रहे हैं। यह सारी स्थिति चिंताजनक है। आज पूरा देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है यह स्थिति में यदि आपको खुद को बचना है शहर का नाम रोशन करना तो कोरोना के नियमों का पालन करना होगा।
कलेक्टर श्री पुरूषोत्तम ने कहा कि संक्रमित मरीज को गाईड लाईन अनुसार प्रोटोकाल का पालन करते हुए सही उपचार मिलना चाहिए। सर्दी, खांसी, बुखार के मरीजों के उपचार में लापरवाही नहीं हो। जिले के समस्त निजी चिकित्सालयों, आयुर्वेदिक होम्योपैथिक एवं एलोपैथिक के प्रायवेट प्रेक्टीसनरों तथा दवा दुकानों की सूची बनाने तथा उन्हें सार्थक लाईट एप्प डाउनलोड कराया जाए। जिससे सर्दी, खांसी एवं बुखार से पीडि़त व्यक्ति के उपचार कराने अथवा दवा लेने दुकान पर आने पर नाम, मोबाईल नंबर आदि की इंट्री सार्थक लाईट एप पर अनिवार्यत: कराया जाए। उक्त निर्देशों का पालन करना बाध्यकारी है इसमें कोताही बरतने पर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। उक्त बात कलेक्टर कुमार पुरूषोत्तम ने धारा 144 के तहत आदेश करते हुए कही।  उन्होंने कहा कि इसकी नियमित समीक्षा की जाए। कलेक्टर श्री पुरूषोत्तम ने उक्त एप्प को अनिवार्य रूप से डाउनलोड करने की हिदायत दी । श्री पुरूषोत्तम के अनुसार उक्त एप्प में जानकारी डालते ही संबंधित मरीज हमारी निगरानी में आ जाएगा। उसको ट्रेक करना आसान होगा। यह हम सबके और शहर के हित में है।

Post a Comment

0 Comments