शासन की दोहरी नीति से निजी स्कूलों को बंद कराने की साजिश

प्रायवेट स्कूल एसोसिएशन ने सौंपा ज्ञापन

CLICK -  

गुना। (प्रदेश केसरी) प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन की जिला स्तरीय बैठक निजी होटल में सम्पन्न हुई। एसोसिएशन के मीडिया प्रभारी धर्मेन्द्र बज ने बताया कि बैठक में जिलाध्यक्ष नरेन्द्र द्विवेदी, उपाध्यक्ष जॉय वर्गीस, विकास सोनी, पवन शर्मा, संगठन सचिव आशीष जैन, प्रदीप रघुवंशी, धर्मेन्द्र बज, जिला उपाध्यक्ष चंपालाल साहू, चांचौड़ा ब्लॉक के अध्यक्ष चंद्रप्रकाश यादव सहित जिलेभर के लगभग एक सैकड़ा से अधिक प्राइवेट स्कूल संचालक उपस्थित  रहे। इस मीटिंग में वक्ताओं ने प्राइवेट स्कूल के साथ हो रहे भेदभाव, शासकीय स्कूल में प्रतिबंध के बावजूद हो रहे प्रवेशों और उनकी गतिविधियों के प्रति रोष जाहिर कर इसे प्राइवेट स्कूलों को बंद करने की साजिश बतातें  हुए शासन की दोहरी नीति के प्रति रोष जाहिर किया गया। साथ ही विगत वर्षो की निःशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा विधेयक, की बकाया फीस न मिलने से स्थिति में स्कूल की बिगड़ रही हालात पर  चिंता  व्यक्त करते हुए शासन से इस ओर ध्यान देने की मांग की गई। वक्ताओं ने आरटीई के विगत सालों की बकाया फीस प्रतिपूर्ति बिना शर्त अविलंब करने की मांग की। वक्ताओं ने कहा कोविड 19 के चलते प्राइवेट  स्कूल बहुत बुरे दौर से गुजर रहे हैं यदि इनके तरफ ध्यान न दिया गया तो इन स्कूलों से जुड़े  लाखों शिक्षकों और कर्मचारियों के घरों में चूल्हे जलना भी बंद हो जाएंगे। इस अवसर पर आयोजित पत्रकार वार्ता में जिलाध्यक्ष नरेंद्र द्विवेदी ने प्राइवेट स्कूलों की समस्यायों पर प्रकाश डाला और मीडिया से उनका साथ देने की अपील की। इस मौके पर डिप्टी कलेक्टर को एक ज्ञापन सौंपा गया। पत्रकार वार्ता और बैठक का संचालन धर्मेन्द्र बज ने किया।

Post a Comment

0 Comments