स्वास्थ्य विभाग में भ्रष्टाचार पहुंचा चरम पर, चिकित्सालय में सील लगाने के लिए बाबू लेते है पैसे

CLICK -  

गुना / कोविड 19 जैसी महामारी के बीच शासकीय कर्मचारी का एक अमानवीय चेहरा सामने आया है। जिला चिकित्सालय में लापरवाही का आलम है,  पूरे परिसर में जगह जगह  गंदगी पसरी हुई है। पूर्व की तरह इस बार भी बरसात के समय अनेकों वार्डों में गंदा पानी भरा है,जबकि अस्पताल की साफ सफाई के नाम पर करोड़ों रूपये खर्च किये जाते है। पर व्यवस्था है कि सुधरने का नाम ही नहीं ले रही है , यहां तक कि आइसोलेशन वार्ड में भी गंदगी के साथ-साथ  भर्ती मरीजों को खाने-पीने की व्यवस्था तक ठीक नहीं है। स्वास्थ्य विभाग में लापरवाही और भ्रष्टाचार चरम पर पहुंच गया है। हाल ही में स्वास्थ्य विभाग के बाबू पवन बुनकर द्वारा नवोदय विद्यालय के मेडिकल सर्टिफिकेट बनाने में दो -दो सौ ₹ लेने का वीडियो वायरल हुआ है,हालांकि रिश्वत का यह खेल पिछले कुछ समय से चल रहा था, इसकी जानकारी स्वास्थ्य महकमे के बड़े अफसरों को होने पर भी कोई कार्यवाही नहीं की गईं।
" चिकित्सालय में पदस्थ बाबू पवन बुनकर के खिलाफ कार्यवाही के आदेश दे दिए हैं, बाबू के खिलाफ जांच भी बैठा दी गई है "- एस. विश्वनाथन कलेक्टर गुना

Post a Comment

0 Comments