जिला अस्पताल में डिजीटल एक्सरा मशीन खराब, मरीज हो रहे परेशान

CLICK -  

गुना। जिला अस्पताल में डिजीटल एक्सरा मशीन खराब होने के कारण मरीजों को बाहर निजी लैबों में एक्सरे करवाना पड़ रहा है। इधर रेडियोग्राफी करने वाले दोनों कर्मचारी अपनी मनमर्जी पर उतारू हैं। अपनी गलती छिपाने के चक्कर में डॉक्टरों की कमी बता रहे हैं। एक रेडियोग्राफी कर्मचारी ने कहा कि डॉक्टरों के घर सटटी पहुंच रही है इसलिए उनकी आंखे कमजोर हो गई हैं। वहीं दूसरी ओर सूत्रों ने बताया कि सादा एक्सरा करने वाले कर्मचारी फिल्मों को अच्छी तरह से क्लियर नहीं कर पाते इस करण डिजिटल एक्सरे की जरूरत पड़ रही है। ऐसी स्थिति में मरीजों के टूटे फूटे हाथ पैर जोडऩे की जगह पंगु बनते जा रहे है। ऐसा ही एक मामला बुधवार को तब सामने आया तब सादा एक्सरे में भद्दी क्लियर नहीं दिखी तो डॉक्टर वीरेंद्र धाकड़ ने डिजिटल एक्सरे की पर्ची बनाकर दे दी। उक्त डिजिटल एक्सरा कर्मचारियों द्वारा नहीं किया और कर्मचारी अपनी मनमर्जी पर अड़े रहे। इस संबंध में सिविल सर्जन ने भी कहा कि डिजिटल एक्सरा कर दो, इसके बाद भी कर्मचारी अपनी कमी छिपाने पर अड़ा रहा। वहीं डॉक्टर सुधीर राठौर ने भी कहा कि आप मेरी कह देना डिजिटल एक्सरा करवा लो, किन्तु अंत में पता चला की डिजिटल मशीन खराब है। तब कहीं मुझे भी बच्चे को लेकर बालाजी हॉस्पिटल जाना पड़ा। इसी स्थिति में मरीजों को कई दिनों तक गुमराह करते हुए परेशान किया जा रहा है। वहीं मरीजों को डॉक्टरों के घर मजबूरी में जाना पड़ रहा है।

Post a Comment

0 Comments