गब्बू पारदी से कथित संबंधों पर पूर्व विधायक ममता मीना का दिग्विजय सिंह पर पलटवार

प्यारे मियां से है उनकी नजदीकियां -ममता मीना 

cLICK -  

गुना। (प्रदेश केसरी) जगनपुर शासकीय जमीन पर अतिक्रमण के मामले में सुर्खियों में बना गब्बू पारदी के चांचौड़ा की पूर्व विधायक ममता मीना के साथ कथित संबंधों के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के आरोप पर श्रीमती मीना ने पलटवार किया है। उन्होंने दिग्विजय सिंह पर अपराधियों को खुलेआम संरक्षण और समर्थन देने का आरोप लगाते हुए भोपाल में कई नाबालिग बच्चियों के यौन शोषण का आरोपी प्यारे मियां से नजदीकियां होने का आरोप लगाया। बकौल श्रीमती मीना के सवाल उठाया कि बच्चियों के यौन शोषण का आरोपी प्यारे मियां जैसे लोगों से दिग्विजय सिंह की नजदीकी की वजह क्या है ? प्यारे मियां उनके इर्दगिर्द क्यों मंडराता रहता था ? शनिवार को पत्रकारों के बीच श्रीमती मीना ने कहा कि मेरी सीएम से मांग है कि जगनपुर मामले की जांच के साथ दिग्विजय सिंह के अपराधियों से कनेक्शन की जांच भी कराई जाए वर्ना इनके संरक्षण में पल रहे अपराधी किसी दिन यूपी के विकास दुबे जैेसा जघन्य कांड कर व करा सकते हैं।
उल्लेखनीय है कि पूर्व मुख्यमंत्री श्री सिंह ने आरोप लगाया था कि गब्बू पारदी की पत्नी पूर्व विधायक ममता मीना के पति को राखी बांधती हैं। इस पर श्रीमती मीना ने जबाव देते हुए कहा कि हर रक्षाबंधन पर में कार्यक्रम आयोजित करती है। जिसमें हजारों लोगों को मैं राखी बांधती और मेरे पति राखी बंधवाते हैं। उन्होंने श्री सिंह से उक्त आरोप के प्रमाण मांगते हुए कहा कि जो आरोप उन्होंने लगाए हैं उसके प्रमाण दे नहीं तो मैं मानहानि का दावा करूंगी। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री पर गब्बू पारदी जैसे अपराधिक प्रवृत्ति के लोगों से संबंध है। वह उन्हें अपने पारिवारिक कार्यक्रमों शादी ब्याह में भी बुलाते हैं। देश के गद्दार और आतंकियों को सम्मान देने उनके नाम के साथ जी और साहब लगाने वाले दिग्विजय सिंह जिले के अपराधियों को खुलेआम संरक्षण दे रहे हैं।
उन्होंने कहा कि मेरा गब्बू पारदी से कोई लेना देना नहीं है। दिसंबर 2019 में जब प्रशासन ने जगनपुर की सरकारी जमीन से गब्बू पारदी का कब्जा हटवाया था तब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी और दिग्विजय सिंह सुपर सीएम बने फिरते थे। यदि मेरा और मेरे पति का गब्बू या उसकी पत्नी को समर्थन होता तो दिग्विजय सिंह मुझ पर एफआईआर दर्ज कराने से नहीं चूकते। क्योंकि कांग्रेस सरकार बनते ही दिग्विजय सिंह ने मेरी सुरक्षा तक हटवा दी थी। उन्होंने आरोप लगाया कि मुझ पर वर्ष 2014 में गोली चलाने वाले बदमाश कमलेश मीना और पुखराज मीना को दिग्विजय सिंह का संरक्षण देते हैं। विधायक जयवर्धन सिंह खुलेआम इन बदमाशों से जेल में मिलने जाते थे। दिग्विजय सिंह का शुरू से ही अपराधियों से लगाव होने के कारण कांग्रेस के भले लोग कांग्रेस छोड़कर जा रहे हैं। पत्रकारवार्ता के दौरान उन्होंने कहा कि हाल ही में जुए के फड पर विधायक प्रतिनिधि सीताराम गुर्जर पकड़े गए। हाल ही में २२ लाख का डोडा चूरा तस्करी में कुंभराज का भवानी सिंह इनका खास है। पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष का पति एवं राज्यसभा सांसद प्रतिनिधि दीपक चौहान उर्फ बल्लू को भी पुलिस ने ढांबे पर जुए का फड चलाते हुए रंगे हाथों पकड़ा था। तब दिग्विजय सिंह और उनके बेटे ने इस मामले में एफआईआर दर्ज होने से रोकने के लिए असफल प्रयास किया था।

Post a Comment

0 Comments