लाकडाउन उल्लंघन में नेता की कटी रसीद,दूसरे दिन ही थाना प्रभारी का तबादला

भाजपा नेता का चालान काटना थाना प्रभारी को पड़ा महंगा 

CLICK -  


शिवपुरी/ (प्रदेश केसरी) प्रदेश में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सरकार द्वारा हर संभव प्रयास किये जा रहें है। कोरोना संक्रमण की चपेट में शिवपुरी की स्तिथि भी लगातार भयावह होती जा रही है। ऐसे में प्रशासन की सख्ती लोगों को रास नहीं आ रही है ताज़ा मामलें में प्रशासन नें शहर में दो दिवसीय पूरा लॉक डाउन लागू किया गया जिसमें पुलिस ने पूरी सख्ती बरती और इस सख्ती में एक  भाजपा नेता भी कार्रवाई की जद में आ गए। पुलिस नें उनकी रसीद क्या काटी कि  अगले ही दिन कोतवाली थाना प्रभारी  बादाम सिंह यादव की शिवपुरी से रवानगी हो गई। पुलिस मुख्यालय भोपाल से कोतवाली थाना प्रभारी का स्थानांतरण आदेश जारी कर दिया गया और उन्हें भोपाल के लिए रवानगी मिल गई। हालांकि स्थानांतरण एक सामान्य प्रक्रिया है, लेकिन ज़ब  कोरोना जैसी गंभीर बीमारी के लिए अधिकारी नियमों का पालन कराने में सख्ती बरत रहें है तब उन्हें हतोत्साहित करना कितना उचित होता है गौरतलब है कि शहर में कोरोना मरीजों की संख्या में एकाएक इजाफा हो गया और महज 12 दिन में 121 नए मरीज मिलने के साथ ही दो महिलाओं की ग्वालियर में उपचार के दौरान मौत भी हो गई। ऐसे में प्रशासन ने रविवार को शहर में दो दिन का पूरा लॉकडाउन किया। लोगों को बिना मास्क के बाजार में निकलने पर पुलिस ने चालानी कार्रवाई की, जबकि बेवजह बाजार में बाइक लेकर घूमने वालों के वाहनों की भी हवा निकाली गई। पुलिस की चल रही इस कार्रवाई के दौरान माधव चौक पर एक भाजपा नेता बिना मास्क के निकले तो पुलिस ने उन्हें रोक कर जुर्माना करने की बात कही। इस दौरान एसडीओपी शिवसिंह भदौरिया भी मौके पर थे और उक्त भाजपा नेता की उनसे बहस भी हुई,  एसडीओपी भदौरिया ने रसीद काटने के लिए कोतवाली थाना प्रभारी से कहा। थाना प्रभारी ने भी बगैर देर किए सौ रुपए का चालान काटते हुए रसीद भाजपा नेता को थमा दी। शहर में चर्चा है कि उक्त भाजपा नेता की प्रदेश के किसी बड़े नेता से नजदीकियां हैं। जिसका उन्होंने अपने राजनीतिक प्रभाव के चलते कोतवाली थाना प्रभारी की रवानगी करवा दी। वहीं, थाना प्रभारी श्री सिंह का कहना है कि मुझे भी यह समझ नहीं आ रहा कि एकाएक ट्रांसफर कैसे हो गया ? हां, यह याद है कि एक बिना मास्क के निकले शख्स का हमने एसडीओपी साहब के कहने पर चालान काटा था, वह खुद को भाजपा नेता बता रहे थे।

Post a Comment

0 Comments