अनाज खरीद कर साढे तेरह लाख रूपये के भुगतान से इन्‍कार करने वाले आरोपी की जमानत निरस्‍त

300 क्विन्‍टल  सोयाबीन एवं 250 क्विन्‍टल गेंहू मुकेश ट्रेडर्स एवं अंबिका ट्रेडर्स के नाम से खरीदा था, उक्त फर्म के नाम से है आरोपी की गल्‍ले की दुकान 


CLICK -  

भोपाल। (प्रदेश केसरी) माननीय न्‍यायालय श्रीमती तृप्ति शर्मा अपर सत्र न्‍यायाधीश बैरसिया  के न्‍यायालय में आरोपी जगदीश पिता गंगाराम साहू पिता देवीराम साहू द्वारा जमानत के लिये आवेदन प्रस्‍तुत किया गया और कहा कि उसे झूठा फंसाया गया है उसकी अपराध में कोई संलिप्‍तता नही है। जिसमें उपस्थित अभियोजन अधिकारी मि‍थलेश चौबे एडीपीओ बैरसिया ने कहा कि आरोपी जमानत पर छूटने पर फरार हो सकता है। साक्ष्‍य भी प्रभावित कर सकता है। आरोपी द्वारा षडयंत्र रच कर धोखाधडी की गयी है, उक्‍त तर्को से सहमत होते हुए माननीय न्‍यायालय द्वारा आरोपी की जमानत निरस्‍त कर दी गयी। 
मीडिया सेल प्रभारी मनोज त्रिपाठी ने बताया कि फरियादी विक्रम सिंह मीणा निवासी वैजा खेडी  तथा उसके साथ भैरो सिंह , हरनाथ सिंह, देवी सिंह, भगवान सिंह ने थाना बैरसिया में आवेदन दिया था कि आरोपी गंगाराम साहू पिता देवीराम साहू, जगदीश तथा मुकेश पिता गंगाराम साहू निवासी शांतिकुज बैरसिया मुकेश ट्रेडर्स एवं अंबिका ट्रेडर्स के नाम से गल्‍ले की दुकान चलाते है। हम लोग करीब 05  वर्षो से अंबिका ट्रेडर्स की दुकान पर सोयाबीन तथा गेहूं बेचते आ रहे है और समय पर भुगतान प्राप्‍त  कर रहे है किन्‍तु इस बार गंगाराम साहू ने जगदीश साहू द्वारा घर से 300 क्विन्‍टल सोयावीन 3000 रूपये प्रति क्विन्‍टल के भाव से 9,50,000 रूपये तथा 250 क्विन्‍टल गेहूं , 1800 रूपये प्रति क्विन्‍टल के भाव से 4,50,000 रूपये कुल 13,50,000 रूपये में प्राप्‍त किये थे तथा मुकेश साहू ने अपने हाथ से पर्ची बनाकर दी थी जिसमें शर्ते थी कि  उक्‍त फसल लेकर यदि नियत समय पर रूपये का भुगतान नही किया तो 2 प्रतिशत के हिसाब से मय ब्‍याज के 15 दिन में पैसा देना होगा। 
कुल रकम की मांग तीनो लोगो से बार बार करने पर नही दिये तब हम लोगो ने कहा या तो फसल दे दो या पैसे दे दो तब आरोपी जगदीश, गंगाराम एवं मुकेश द्वारा कोई भुगतान नही किया गया। इन लोगो द्वारा बेईमानी से फसल हडप कर उसे बेचकर रूपया अपने उपयोग में लिया है और भुगतान न कर धोखा दिया जा रहा है जिस पर थाना बैरसिया द्वारा दिनांक 24.07.2020 धारा 406 एवं 409 भादवि के अन्‍तर्गत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। जिसमें एक  आरोपी जगदीश पुत्र गंगाराम ने अपना 
जमानत आवेदन दिया था,जिसका खारिज किया गया है,दूसरा आरोपी मुकेश जेल में है तथा तीसरा आरोपी गंगाराम अभी फरार है।

Post a Comment

0 Comments