वन विभाग की जमीन पर कब्जा को लेकर दो पक्ष भिड़े, सैकड़ों की भीड़ ने खेत पर काम रहे लोगों पर किया हमला

हालात बिगडऩे पर पुलिस को करना पड़ा हवाई फायर, मौके पर भारी पुलिस बल तैनात

CLICK -  

गुना। (प्रदेश केसरी) जिले के फतेहगढ़ थानांतर्गत ग्राम डोबरा एवं बीलखेड़ा गांव के बीच स्थित वन विभाग की जमीन पर कब्जा को लेकर दो पक्ष आपस में भिड़ गए। इस दौरान दोनों तरफ से हुए पथराव में एक दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को हवाई फायर करना पड़ा। घायलों को पुलिस द्वारा जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं दूसरे पक्ष द्वारा पुलिस पर एक तरफा कार्रवाई का आरोप लगाते हुए फतेहगढ़ थाने का घेराव किया। स्थिति बिगड़ते देख मौके पर चार पुलिस थानों का बल मौके पर पहुंचाया गया। इधर घटना की सूचना मिलते ही मौके पर कलेक्टर-एसपी पहुंचे।
प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम डोबरा एवं बीलखेड़ा गांव के बीच आधा सैकड़ा बीघा के करीब वन विभाग की जमीन पड़ी हुई है। जिस पर कब्जा करने के लेकर मुस्लिम और आदिवासी भील समाज में खूनी संघर्ष हो गया। खूनी संघर्ष में मुस्लिम समाज के एक ही परिवार के दो लोगों के हाथ पांवों में गंभीर चोटें आई हैं, जबकि आधा दर्जन से अधिक घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराए गए हैं। घायलों के अनुसार उनकी जमीन डोबरा में है। जहां वह धान की खेती कर रहे थे। गत रात्रि भीलों द्वारा उनके खेत पर पत्थरों से बनी दीवार ढाह दी। इसकी सूचना उन्होंने पुलिस को दी थी। प्रात: 9 बजे के करीब जब वह खेत पर धान बो रहे थें  तभी सैकड़ों लोगों की भीड़ ने अचानक उन पर हमला कर दिया। जिसमें उनके परिवार के छोटे-छोटे बच्चों सहित आधा दर्जन से अधिक लोगों को गंभीर चोटें आईं। घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने आक्रोशित भीड़ को तितर-बितर करने का प्रयास किया, लेकिन भीड़ फिर भी पथराव करती रही। जिसके बाद पुलिस को हवाई फायर करना पड़ा। जिसके बाद आक्रोशित भीड़ ने फतेहगढ़ थाने का घेराव किया। 
इस दौरान भील समाज के लोगों ने पुलिस पर एक तरफा कार्रवाई का आरोप लगाते हुए फारूख नामक युवक पर फायर करने का आरोप लगाया। हालत बिगड़ते देख चार थानों का पुलिस बल मौके पर पहुंचाया गया। दरअसल मामले के अनुसार ग्राम डोबरा एवं बीलखेड़ा गांव के बीच पड़ी वन विभाग की जमीन पर कब्जा करने के लिए यहां निरंतर पेड़ों की कटाई की जा रही है। इसी को लेकर दोनों पक्ष आमने-सामने आएं हैं। घायलों के अनुसार यहां के भील समाज के लोगों द्वारा वन विभाग की जमीन पर कब्जा किया जा रहा है। जिससे उनके आने-जाने का रास्ता बंद हो रहा था।  

इनका कहना है 

हमें जानकारी मिलते ही पुलिस बल के साथ मैं स्वयं घटना स्थल पर पहुंचा था। फायरिंग जैसा कुछ नहीं हुआ है। घायलों का जिला अस्पताल में उपचार के लिए भेजा गया है। मौके पर अब शांति है। इस मामले में पुलिस ने क्रॉस मामला दर्ज किया है।
- गजेंद्र बुंदेला (थाना प्रभारी फतेहगढ़)

Post a Comment

0 Comments