पशुओं के प्रति दया और संरक्षण का भाव ही उन्हें अभयदान देने का सर्वोत्तम तरीका- मुनिश्री अभय सागरजी महाराज

मुनिश्री के ससंघ सानिध्य में हुआ गौशाला का शुभारंभ


गुना। एबी रोड स्थित आचार्य श्री विद्यासागर दयोदय गौशाला का शुभारंभ मंगलवार की प्रात: ब्रह्म मुहूर्त में सम्पन्न हुआ। इस मौके पर मुनिश्री अभय सागरजी महाराज, प्रभात सागरजी महाराज एवं निरीह सागरजी महाराज का ससंघ सानिध्य प्राप्त हुआ। गौशाला समिति के मीडिया प्रभारी धर्मेन्द्र बज और अध्यक्ष अरविंद जैन ने बताया कि आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज के दीक्षा दिवस के अवसर पर मुनिश्री सुधासागर महाराज की प्रेरणा से बना सर्वोदय ज्ञान तीर्थ पर पशुओं के संरक्षण और संवर्धन हेतु निर्मित गौशाला का शुभारम्भ मुनिसंघ के सान्निध्य में हुआ।
कार्यक्रम का शुभारंभ आचार्यश्री के चित्र के समक्ष गौशाला समिति के अध्यक्ष अरविंद जैन, मंत्री अखिलेश जैन, उपाध्यक्ष राकेश जैन, संजीव जैन, कोषाध्यक्ष  प्रवीण जैन, मीडिया प्रभारी धर्मेन्द्र बज ने दीप प्रज्वलित कर किया। तत्पश्चात मुनिसंघ  के सानिध्य में समस्त मांगलिक क्रियाएं संपन्न हुई। समिति के अध्यक्ष, मंत्री एवं धनकुमार जैन आदि ने गौशाला का फीता काटकर, गौमाता को गौशाला में प्रवेश कराकर एवं उन्हें गौग्रास खिलाकर गौशाला का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने 53 हजार रुपये के दान की घोषणा की।
इस अवसर  पर पूज्य मुनिश्री अभयसागर जी महाराज ने कहा कि पशुओं को अभयदान देने का सर्वोत्तम तरीका उनके प्रति दया और उनके संरक्षण का भाव है। कार्यक्रम में मनोज जैन, धर्मेन्द्र बांझल, रमेश आमल्या, मुकेश जैन सहित गौशाला के सदस्यगण एवं समाज के अन्य साधर्मीजन भी उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments