ग्राम पंचायत भमावद में भ्र्ष्टाचार का आलम, जागरूक ग्रामवासियों नें लगाएं आरोप

एक सप्ताह पूर्व कलेक्टर व मुख्य कार्यपालन अधिकारी को दें चुके आवेदन, अभी तक नहीं हुई सुनवाई 

CLICK -  


गुना/ (प्रदेश केसरी) चांचौड़ा ब्लॉक अंतर्गत  ग्राम पंचायत भमावद में भारी भ्र्ष्टाचार व धांधली के आरोप गांव के ही ग्रामीण जनों  द्वारा लगाएं गए है। विगत 8 जुलाई को ग्रामीणों कें एक दल नें कलेक्टर गुना एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत गुना से मुलाक़ात कर मांग की है कि हमारी ग्राम पंचायत में काफ़ी भ्र्ष्टाचार हुआ है, जिसकी जाँच होना चाहिए। लेकिन छः दिन गुजरने के बाद भी अभी तक प्रशासन नें कोई कार्यवाही नहीं की है। ग्रामीणों द्वारा मांग में कहा गया है कि ग्राम भमावद की नल योजना विगत 5/6 वर्षों से बंद पड़ी है जो आज तक चालू नहीं हुई है जिसके नाम पर लाखों रुपए का घोटाला हुआ है। ग्राम पंचायत व ग्राम के डेरों पर साफ सफाई के नाम पर लाखों रुपए का गबन किया गया जिसका आज तक कोई मूल्यांकन नहीं कराया गया और ना ही ग्राम वासियों को इसके बारे में पता चलने दिया। नन्नू लाल लोधा,  कमलेश पाल,  घनश्याम पाल, जगदीश शर्मा और बहुत सारे किसानों के नाम से लगभग 50 से 60 लाख रूपये शासकीय मद से निकाले जो बिना फर्म वाले लोगों के बिल लगाकर सरकार का टैक्स का नुकसान सहित लाखों  रुपए का घोटाला किया है। फोटोकॉपी के नाम पर एक ही व्यक्ति को लगभग 5से 6 लाख रूपये का लाभ दिया गया जो कि भारी भ्रष्टाचार है।
ग्राम पंचायत द्वारा विगत 5 वर्षों में ₹50-60 लाख रुपयों की रेत क्रय करना बताया है जो कि शंका स्पष्ट है । ऐसे गुणवत्ता विहीन सामग्री का उपयोग कर शासन प्रशासन को लाखों रुपए का चूना लगाया जा रहा है। ऐसे गुणवत्ता विहीन सामग्री का उपयोग कर शासन प्रशासन को लाखों रुपए का चूना लगाया जा रहा है।
भमावद ग्राम में पूर्व निर्मित सीसी रोड के ऊपर खरंजा कर लगभग 20 से 25 लाख  रुपए का शासन का नुकसान किया है उसे निरस्त कर दूसरे कामों पर खर्च कराया जाए। ग्राम की सड़क पर मवेशी और ग्राम वासियों से चलने की तक नहीं बन रही है,  उस पर डस्ट या बजरा डलवाया जाए। जबकि उक्त कार्य  में एक भी मजदूर का उपयोग नहीं किया गया है पूरा काम मशीन द्वारा कराया गया है। ऐसे में गुणवत्ता विहीन सामग्री का उपयोग व धांधली कर शासन प्रशासन को लाखों रुपए का चूना लगाया जा रहा है। 

Post a Comment

0 Comments