धारा 144 का उल्लंघन करने पर संघ के पूर्व प्रचारक एवं भाजपा मंडल अध्यक्ष सहित अन्य पर मामला दर्ज

आरोन सहित अन्य जगहों पर निकाला गया था जुलूस

CLICK -  

गुना। (प्रदेश केसरी) जिले में लागू धारा 144 का उल्लंघन कर लगातार रैली और सभा आयोजित करने के मामले में प्रशासन ने उच्च स्तरीय निर्देशों के बाद आरएसएस के पूर्व प्रचारक चेतन भार्गव, भाजपा मंडल अध्यक्ष गोविंद शर्मा के विरुद्ध नामजद व अन्य 75-100 अज्ञात लोगों के विरुद्ध एफआइआर दर्ज की है। एक शिकायत के क्रम में एसडीएम के निर्देश के बाद आरोन थाना पुलिस ने यह मामला दर्ज किया है। गुरुवार को ही प्रदेश शासन ने सभी प्रकार की रैलियों, धरना, प्रदर्शन व सभाओं पर 14 अगस्त तक के लिए प्रतिबंधित के आदेश दिए थे।

हूटर व सायरन लगे वाहनों के साथ निकाली जा रही थी रैली

पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम मूडऱा खुर्द निवासी बबलू अहिरवार ने एसडीएम को शिकायत की थी कि जिला दंडाधिकारी महोदय द्वारा कोरोना महामारी से बचाव के लिए संपूर्ण जिले में धारा 144 लागू की गई है एवं महामारी के संक्रमण की रोकथाम के लिए भीड़ इकट्ठा करने, जुलूस, रैली, सभा के आयोजन पर पाबंदी लगाई है। इसके बाद भी चेतन भार्गव और गोविंद शर्मा पिछले चार-पांच दिनों से अनुभाग के अंतर्गत भीड़ जुटाकर सभा, जुलूस, रैली का बिना शासन की अनुमति के लगातार आयोजन कर रहे हैं। इनके द्वारा 28 जुलाई को आरोन नगर में जगह-जगह भीड़ जुटाई गई थी और 20-25 गाडयि़ों का काफिला भी निकाला जिनमें से कुछ में हूटर व सायरन का प्रयोग भी किया गया। इन गतिविधियों से संक्रमण का खतरा उत्पन्न हुआ और अगले दिन आरोन में एक बुजुर्ग भी कोरोना से संक्रमित पाया गया, अन्य लोगों में भी संक्रमण का खतरा बना हुआ है। इसी प्रकार 30 जुलाई को चेतन भार्गव, गोविंद शर्मा व उसके 75-100 अन्य साथी पनवाड़ी हाट तथा अन्य क्षेत्रों में भीड़ इकट्ठा कर खुद का स्वागत कराने व भाषण देने में लगे हैं। जिसके सोशल मीडिया में फोटो वीडियो वायरल हो रहे हैं। जिससे जिला दंडाधिकारी महोदय द्वारा जारी धारा 144 सीआरपीसी व अनलॉक 2 के प्रावधानों का खुला उल्लंघन हो रहा है और चेतन भार्गव, गोविंद शर्मा व उसके साथियों की गतिविधियों से महामारी के संक्रमण का खतरा उत्पन्न हो गया है।

एसडीएम ने लिया शिकायत पर संज्ञान

इस शिकायत के साथ शिकायत कर्ता ने फोटो व वीडियो प्रस्तुत कर एसडीएम से कार्यवाही की मांग की थी। जिस पर संज्ञान लेकर एसडीएम केएल यादव ने आरोन थाना प्रभारी को कार्यवाही के लिए पत्र जारी किया, इसके बाद आरोपी चेतन भार्गव, गोविंद शर्मा व 75-100 अन्य अज्ञात के विरुद्ध आईपीसी की धारा 188, 269, 270 के तहत एफआईआर दर्ज कर ली गई।

Post a Comment

0 Comments