सुपरवाईजर से परेशान आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने खोला मोर्चा

ज्ञापन सौंपकर की कार्रवाई की मांग

CLICK -  

गुना। (प्रदेश केसरी) जिले के आरोन विकासखंड में महिला विकास विभाग में पदस्थ एक सुपरवाईजर के खिलाफ दर्जनों आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका लामबंद हो गई हैं। सोमवार को कलेक्टोरेट पहुंची आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं एवं सहायिकाओं ने उक्त सुपरवाईजर पर जबरन परेशान कर प्रति माह आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं से एक-एक हजार एवं सहायिका से 500-500 रुपए वसूलने का आरोप लगाया है। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के अनुसार सुपरवाईजर प्रेमलता लोधी द्वारा पिछले कई माह से उनका आर्थिक एवं मानसिक शोषण किया जा रहा है। उक्त सुपरवाईजर द्वारा पैसे नहीं देने पर कलेक्टर से शिकायत कर हटवाने की धमकी दी जाती है। वह कहती है कि मेरा पति भाजपा का नेता है और भाजपा की ही अभी सरकार है। मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता। सुपरवाईजर द्वारा कभी-कभी पत्रकारों के नाम से भी पैसे मांगें जाते हैं। फोन करके कहती है कि तुम्हारे खिलाफ आंगनवाड़ी की खबर छप गई है। बचना हो तो पैसे भेज दो। ज्ञापन में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने आंगनवाड़ी केंद्र छुटाई के तीन हजार रुपए खाते में जमा हुए थे वह प्रेमलता से वापस दिलाने की मांग की। इसके अलावा उक्त सुपरवाईजर की जांच कर कड़ी कार्रवाई की मांग की गई।

Post a Comment

0 Comments