आंदोलन के लिये भाजपा ने मांगा था अन्ना हजारे का साथ, अन्ना ने दिया ऐसा जबाब

नई दिल्ली। (प्रदेश केसरी) सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे को दिल्ली भाजपा  ने कुछ समय पहले एक पत्र लिखकर आंदोलन के लिए अनुरोध किया था। इसके जवाब में हजारे ने कहा कि दिल्ली बीजेपी को आप सरकार के खिलाफ अपने आंदोलन में उन्हें (अन्ना हजारे को) शामिल होने के लिए कहना दुर्भाग्यपूर्ण है। ऐसा दिल्ली भाजपा तब कर रही है, जब उसके पास खुद का एक बड़ा कैडर है और केंद्र में सत्ता है।
अन्ना ने कहा, आपका पत्र पढ़कर मुझे अफसोस लगा। आपकी भारतीय जनता पार्टी देश की सत्ता पिछले छह साल से अधिक समय से संभाल रही है। युवाशक्ति एक राष्ट्रशक्ति है। आपके पार्टी में बड़ी संख्या में युवक होते हुए और विश्व में सबसे ज्यादा पार्टी सदस्य होने का दावा करने वाले पार्टी के नेता 83 वर्षीय के मंदिर में 10×12 फीट के कमरे में रहनेवाले अन्ना हजारे जैसे फकीर आदमी को जिसके पास धन नहीं, दौलत नहीं, सत्ता नहीं ऐसे आदमी को दिल्ली में आंदोलन करने के लिए बुला रहे है इस से ज्यादा दुर्भाग्यपूर्ण बात और क्या हो सकती।
बकौल अन्ना, आज केंद्र में सरकार आपकी है। दिल्ली सरकार के भी कई विषय केंद्र सरकार के अंतर्गत है। सीबीआई. इकनॉमिक्स ऑफेंस, दिल्ली सरकार की पुलिस केंद्र सरकार के नियंत्रण में है। भ्रष्टाचार निर्मूलन के लिये कठोर कदम केंद्र सरकार ने उठाये ऐसा दावा हमेशा प्रधानमंत्री करते हैं। अगर ऐसा है और अगर दिल्ली सरकार ने भ्रष्टाचार किया है तो क्यों उनके खिलाफ कठोर कानुनी कारवाई आपकी ही सरकार नहीं करती ? या भ्रष्टाचार निर्मूलन के केंद्र सरकार के सब दावे खोखले है ?
वह आगे लिखते हैं- मैंने 83 साल की उम्र में समाज, राज्य और राष्ट्र की भलाई के लिए 22 साल से अहिंसा के मार्ग से अलग अलग आंदोलन किए हैं। 20 बार मैंने अनशन किए हैं। आजतक के आंदोलन में छह मंत्री अपने पद से हटाऐ गये हैं। उनमें हर पक्ष-पार्टी के मंत्री हैं। मैंने किसी पक्ष और पार्टी को देखते हुए आंदोलन नहीं किया है। हमें पक्ष और पार्टी का कोई लेनदेन नहीं है।
सिर्फ गांव, समाज और देश की भलाई यह सोचकर आंदोलन करते आया हूं। दरअसल, दिल्ली बीजेपी मुखिया आदेश गुप्ता की ओर से लिखा गया खत 24 अगस्त को अन्ना हजारे को मीडिया के जरिए मिला था। इस खत में गुप्ता ने लिखा है कि दिल्ली आकर अन्ना पार्टी के विरोध में लोकपाल आंदोलन जैसा आंदोलन का आवाज उठाएं और बीजेपी का साथ दें।

Post a Comment

0 Comments