कोरोना से जंग जीते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, 10 दिन बाद अस्पताल से मिली छुट्टी

Click -  
भोपाल। (प्रदेश केसरी) मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पिछले करीब 10 दिनों से कोरोना संक्रमण के कारण भोपाल के अस्पताल में भर्ती रहें है। सीएम चौहान को बुधवार 5 अगस्त को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। शिवराज ने खुद ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी। उन्होंने साथ ही उनकी देखभाल कर रहे डॉक्टरों का भी धन्यवाद दिया।
पिछले महीने 25 जुलाई को सीएम शिवराज ने खुद के कोरोना से संक्रमित होने की पुष्टि की थी, जिसके बाद उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था हालांकि शिवराज सिंह में इस महामारी के कोई लक्षण नहीं पाए गए थे।

एक दिन पहले ही पॉजिटिव आई थी रिपोर्ट

करीब एक हफ्ते तक अस्पताल में रहने के बाद 3 अगस्त को भी उनका कोरोना टेस्ट कराया गया था, जिसमें एक बार फिर वह पॉजिटिव पाए गए थे। हालांकि, बुधवार को दोबारा उनका टेस्ट किया गया और उनकी रिपोर्ट इस बार नेगेटिव आई, जिसके बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। शिवराज ने इस बात की जानकारी देते हुए ट्वीट किया और लिखा, "मैं आज पूर्ण स्वस्थ होकर घर वापस लौटा. मैं डॉक्टर्स, नर्सेज़ सहित पूरी टीम को धन्यवाद देता हूँ, जिन्होंने मेरा सदैव ध्यान रखा."

'डॉक्टरों का ऋण नहीं चुका पाउंगा'

शिवराज ने अस्पताल के बाहर सभी डॉक्टरों और अन्य मेडिकल स्टाफ को भगवान का स्वरूप बताया और उनके साथ अपनी तस्वीर भी पोस्ट करते हुए लिखा, "#CoronaWarriors निस्वार्थ भाव से अस्पताल के प्रत्येक मरीज़ की देखभाल कर रहे हैं। आप भगवान का रूप हैं आपका यह ऋण मैं कभी नहीं चुका सकता हूं"।
मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण से  अब तक 35 हजार से ज्यादा मामले आ चुके हैं, जिनमें 912 लोगों की मौत हो चुकी है। राज्य में अभी भी 8 हजार से ज्यादा एक्टिव केस हैं, जबकि 25 हजार से ज्यादा मरीज ठीक हो चुके हैं।


Post a Comment

1 Comments

  1. आपकी पोस्ट बहुत ही अच्छी लगी, एवं ऐसी पोस्ट को पब्लिश करना बहुत जरूरी है लोगों के लिए यह बहुत ही हेल्प करेगी। ऐसे लेखक को बहुत-बहुत धन्यवाद Very good information'all india world'jankari purn post this page'bataiye'ऐसी पोस्ट पढ़कर कुछ इनकम भी लोग कर सकते हैं'top job gyanऐसी पोस्टों को पढ़कर के हम वर्क कर सकते हैं'so work'internet per aisi post bahut hi housefull hoti hain'internet in india'

    ReplyDelete