जिलें में 26 गौशालाओं का निर्माण कार्य पूर्णं, सभी गौशालाओं में पशु चिकित्सा अधिकारी नियुक्त

गौवंश की टैगिंग, टीकाकरण, चिकित्सा आदि कार्य हेतु चिकित्सकों की लगायी गई ड्यूटी

CLICK -  

गुना। (प्रदेश केसरी) मध्यप्रदेश में गौसंरक्षण के उद्देश्‍य से पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा प्रदेश के समस्त जिलों में बढ़ी संख्या में मनरेगा योजनान्तर्गत शासकीय गौशालाओं का निर्माण कराया जा रहा है। जहां गौवंशों के चारा, पानी, दाना, चिकित्सा, रख-रखाव आदि की समुचित व्यवस्था का प्रावधान किया गया है। इन गौशालाओं को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्‍य से गौशालाओं में गोबर खाद, गौमूत्र अर्क, गौकास्ट आदि का उत्पादन भी कराया जावेगा। इस आशय की जानकारी में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत निलेष परीख ने बताया कि वर्ष 2019-20 में जिले को 30 गौशाला निर्माण का लक्ष्य प्राप्त हुआ था। जिसमें 26 गौशालाओं का निर्माण कराया जा चुका है एवं शेष 04 गौशालाएं भी आगामी 8 से 10 दिवस में पूर्ण हो जाएंगी। सभी गौशालाओं में चारा, भूसा, दाना आदि की व्यवस्था करा दी गई है। साथ ही सभी गौशालाओं में एक-एक पशु चिकित्सक एवं सहायक पशु चिकित्सा अधिकारी की ड्यूटी भी लगाई गई है। जो गौशाला में उपलब्ध गौवंश की टैगिंग, टीकाकरण, चिकित्सा आदि का कार्य करेंगे। उन्‍होंने बताया कि जनपद पंचायत आरोन की ग्राम पंचायत पनवाड़ीहाट में गौशाला निर्माण कार्य पूर्ण कराकर उसका विधिवत शुभारंभ किया जा चुका है। 
उन्‍होंने जानकारी देते हुए बताया कि वर्ष 2020-21 में गुना जिले को 130 गौशाला निर्माण का लक्ष्य प्राप्त हुआ है। जिनमें स्थल चिन्हांकन का कार्य सभी जनपदों में तीव्र गति से चल रहा है। शीघ्र ही वहां भी गौशाला निर्माण का कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments