धरनावदा पुलिस ने किया फर्जी लूट मामले का खुलासा

रकम बरामद कर आरोपियों पर किया मामला दर्ज

CLICK -  

गुना । (प्रदेश केसरी) जिले की धरनावदा पुलिस ने लूट की झूठी रिपोर्ट कराने वाले आरोपियों को गिरफ्तार कर मात्र कुछ ही घंटों में मामले का पर्दाफाश किया है। फरियादी आरोपियों द्वारा चौकी झागर क्षेत्रांर्तगत ग्राम बेरखेड़ी के पास अज्ञात हथियाबंद बदमाशों द्वारा उससे 1,20,000 रुपये लूटने की शिकायत की गई थी। पुलिस ने मामले का पटाक्षेप करते हुए फरियादी आरोपियों की निशादेही से तथाकथित लूट की रकम भी बरामद की है। वहीं पुलिस को असत्य रिपोर्ट करने पर फरियादी आरोपियों पर मामला दर्ज किया है।
दरअसल मामले के अनुसार गत रात्रि में चौकी झागर अंतर्गत बेरखेड़ी के पास जंगल में पिकअप वाहन क्रमांक एमपी 33 जी 0809 के चालक द्वारा उनके साथ अज्ञात हथियारबंद बदमाशों द्वारा जबरन रोककर 1,20,000 रुपये लूट लिये जाने की सूचना क्षेत्र में तैनात एफआरबी वाहन के कर्मचारियों को दी गयी थी। उक्त सूचना धरनावदा थाना प्रभारी एसआई विपेन्द्र सिंह चौहान को मिलते ही वह हमराह फोर्स के तत्काल घटना स्थल पर पहुंचकर लूट की सूचना देने वाले पीडि़त पिकअप चालक विक्रम कुशवाह निवासी भदौरा एवं परिचालक राजवीर पाल निवासी सांई बिहार कालोनी गुना से घटना के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने पुलिस को बताया कि वह कालोनी, बमौरी आदि में किराने के सामान की सैलिंग कर उससे मिले लगभग 1,20,000 रुपये लेकर वापस गुना जाते समय रात लगभग 11 बजे बेरखेड़ी के पास जंगल में दो मोटर साइकिलों पर सवार 06 अज्ञात हथियारबंद बदमाशों द्वारा हमारी गाड़ी को जबरन रोककर हमें डरा धमकाकर हमारेे पास से 1,20,000 रुपए लूटकर ले गये।
लूट की उक्त घटना को थाना प्रभारी द्वारा गंभीरता से लेते हुये संबंधितों से बारीकी से पूछताछ की गई एवं तथाकथित लूटी गयी रकम के स्त्रोत की जानकारी पुलिस द्वारा अन्य क्रेताओं एवं सैलिंग कंपनी एपेक्स कुसमौदा के कर्ताधर्ताओं से ली । जानकारी पर पता चला कि 18 अगस्त को विक्रय किये गये किराने की रकम उक्त चालक द्वारा रात्रि हो जाने से साथ ना लाई जाकर ग्राम कालोनी, बमौरी के एक किराना व्यवसायी के यहां सुरक्षित रखकर आना पता चला। इस प्रकार लूट की असत्य रिपोर्ट लिखाकर कंपनी की रकम को हड़प कर जाने वाले वाहन चालक विक्रम कुशवाह एंव परिचालक राजवीर पाल की योजना गुना पुलिस की कार्यशैली के आगे सफल नहीं हो सकी। प्रकरण में पुलिस द्वारा अग्रिम कार्यवाही करते हुये उक्त तथाकथित लूट की घटना के फरियादीद्वय की निशादेही से रकम संबंधित किराना व्यापारी से प्राप्त कर संबंधित कंपनी धारक के सुपुर्द की गयी है। वहीं लूट की झूंठी सूचना देने वाले चालक विक्रम कुशवाह एंव परिचालक कोकसिंह पाल के विरूद्ध संदेशात्मक प्रतिबंधात्मक कार्यवाही की गयी है। उपरोक्तानुसार लूट की झूठी रिपोर्ट का खुलाशा करने में धरनावदा थाना प्रभारी उनि विपेन्द्र सिंह चौहान के साथ झागर चौकी के स्टॉफ की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।



Post a Comment

0 Comments