बमोरी वन परिक्षेत्र में नहीं रुक रही है जंगलों की कटाई

दो दर्जन ग्रामीणों ने दिया ज्ञापन

CLICK -  

गुना। (प्रदेश केसरी) जिले के बमोरी वन परिक्षेत्र में वन की कटाई और आपसी संघर्ष थमने का नाम नहीं ले रहा है। बमोरी वन परिक्षेत्र अंतर्गत ग्राम बनियानी एवं खर्राखेड़ा की मार में अवैध जंगलों की अवैध कटाई को रूकवाने के लिए दो दर्जन से भी अधिक ग्रामीणों ने बमोरी थाना प्रभारी भागीरथ शाक्य के अलावा जिला मुख्यालय पहुंचकर वन विभाग के अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में अतिक्रमणकारियों पर कार्रवाई की मांग की गई है। साथ ही ग्रामीणों ने वन परिक्षेत्र अधिकारी अजय त्रिपाठी से भी वन कटाई के लिए आवेदन देकर कटाई रोकने की गुहार लगाई है। ग्रामीणों का कहना है कि जिस भूमि पर भील आदिवासी समाज के लोग कटाई कर रहे हैं उसमें 52 ग्रामीणों के पट्टे हैं। जो कि सभी समाज के लोग हैं। अगर जल्द ही इन अतिक्रमणकारियों को नहीं रोका गया तो यह जमीन खेती करने योग्य बन जाएगी।
ज्ञापन में कहा गया कि हमारे गांव बसे लगभग 50 वर्ष हो चुके हैं। लेकिन आज हमारे मोजे की वनभूमि पर कालीभोंट वालों ने कब्जा कर लिया है। इसके पूर्व छतरपुरा मोजा पर कब्जा किया जा चुका है। इसके अलावा विष्णुपुरा, गोविंदपुरा मोजे पर भी कब्जा किया जा रहा है। जबकि यहां शासन ने दो-दो बार प्लांटेशन किया था। इन क्षेत्रों पर भी कब्जा कर फसल बोई जा रही है। अब यह लोग हमारे मोजे की वन भूमि की भी जबरन कटाई कर रहे हैं। ग्रामीणों ने जिला प्रशासन ने वनों की कटाई एवं अतिक्रमण रोकने की मांग की। मांग करने वालों में अमरलाल, हल्का, लालाराम, नाथूलाल, रामा, गोपाल, मोनू, सुरेश, किशन, कन्हैयालाल, गोमचा, रामलाल आदि शामिल हैं।

Post a Comment

0 Comments