नाबालिकों के यौन शोषण का आरोपी प्यारे मिया के विरूद्ध एक ओर मामला

प्यारे मियाँ 17 अगस्‍त तक न्‍यायिक अभिरक्षा में पहुंचा जेल , फर्जी नामो पर बनाई सोसायटी और उसके आडिट के फर्जीवाड़े का है मामला

Click -  
भोपाल। (प्रदेश केसरी) नाबालिको के यौन शोषण का मुख्य आरोपी प्‍यारे मियां की थाना श्‍यामला हिल्‍स  द्वारा पुलिस रिमांड समाप्त होने पर माननीय न्यायालय  श्री हीरालाल अलावा न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी के न्यायालय में पेश किया गया, जहाँ थाना श्यामला हिल्स द्वारा आरोपी के न्‍यायिक अभिरक्षा की मांग की गयी । जहां आरोपी के अधिवक्‍ता द्वारा अभिरक्षा में  दिये जाने का विरोध किया गया  तथा धारा 165 द.प्र.सं  का आवेदन प्रस्‍तुत किया गया , जिस पर उपस्थिति वरिष्‍ठ अभियोजन अधिकारी श्री आशीष त्‍यागी द्वारा संतोष व्‍यक्‍त किया गया कि मामला गम्‍भीर और विवेचनाधीन है।  आरोपी प्‍यारे मियां को न्‍यायिक अभिरक्षा में दिया जाना उचित होगा तथा साथ ही आवेदन पर असहमति भी दर्ज करायी गयी । उक्‍त तर्को से सहमत होते हुए माननीय न्‍यायालय द्वारा आरोपी प्‍यारे मियां को  को 17 अगस्‍त के लिये न्‍यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया।  और आवेदन भी निरस्‍त कर दिया गया। मीडिया सेल प्रभारी मनोज त्रिपाठी ने बताया कि विदित है थाना श्‍यामला हिल्‍स द्वारा आरोपी प्‍यारे मियां एवं तन्‍वीर फातिमा, बदरून निशा और पुत्र शाह नवाज खान के विरूद्ध धोखाधडी कर सोसायटी बनाने तथा एयरटेल कम्‍पनी से अनुबंध कर 60 लाख प्राप्‍त कर दुरूपयोग करने तथा सोसायटी के लिये कोई काम करने और फर्जी नामो से ऑडिट रजिस्‍टार कार्यालय में दर्ज कराने के मामले में थाने के अपराध क्रमांक 173/20 अन्‍तर्गत धारा 420, 406 भादवि दर्ज किया था। विवेचना के दौरान दुरूपयोग की राशि लगभग सवा करोड ज्ञात हुई थी थाना श्‍यामला हिल्‍स द्वारा आरोपी प्‍यारे मियां को दिनांक 30.07.2020 को 04 दिल का पुलिस रिमाण्‍ड पर लेकर पूछताछ की गयी थी । प्रकरण में फर्जी ऑडिट करने वाले आरोपी वकील एस.जमील की गिरफतारी पूर्व में हो चुकी है अन्‍य आरोपी तन्‍वीर फातिमा, बदरून निशा और पुत्र शाह नवाज खान फरार है।

Post a Comment

0 Comments