अस्पताल में मरीज के साथ केवल एक ही अटेंडर रहेगा

जिला अस्पताल की व्यवस्थाओं में सुधार की हुई समीक्षा

गुना। (प्रदेश केसरी) कलेक्टर कुमार पुरूषोत्तम ने चिकित्सकों से कहा है कि प्रत्येक व्यक्ति को विकास करने का हक है। यह तब ही संभव है जब समाज विकसित होगा। किसी भी समाज का कोई भी व्यक्ति गरीबी के चलते उपचार से वंचित नहीं रहे। चिकित्सकों के ऊपर कम दबाव रहता है। बावजूद इसके चूक की बिल्कुल गुंजाइश नहीं है। संबंधित की जिम्मेदारी तय होगी। कलेक्टर श्री पुरूषोत्तम जिला चिकित्साालय गुना की व्यवस्थाओं में सुधार लाने हेतु गठित विभिन्न समितियों कि जिला चिकित्सालय में समीक्षा कर रहे थे। इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास विभाग के कार्यक्रम अधिकारी डी.एस.जादौन द्वारा अस्पताल की साफ-सफाई व्यवस्था के बारे में जानकारी दी गयी। समीक्षा के दौरान उन्होंने सफाई व्यवस्था सुदृढ करने हेतु आउटसोर्स कर्मचारियों के टेंडर जारी करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने प्रतिदिन कचरा कलेक्शन किए जाने की कार्रवाई हेतु सिविल सर्जन को निर्देशित किया।
उन्होंने निर्देशित किया कि वार्ड में मरीज के साथ एक ही अटेण्डर मौजूद रहे, कि व्यवस्था बनाई जाये ताकि अनावश्यक भीड एकत्रित न हो। भोजन व्यवस्था की समीक्षा के दौरान उन्हों ने मरीजों को 15 अगस्त से पैकिट सामग्री तैयार कराया जाने, अस्पताल परिसर में सीसीटीव्ही  कैमरे बढ़ाने तथा पार्किंग व्यवस्था व्यवस्था करने तथा जननी सुरक्षा योजनांतर्गत हितग्राहियों के 644 भुगतान लंबित है, का भुगतान शीघ्र कराने भी निर्देश दिए गए। इस अवसर पर एडीएम उमेश शुक्ला, डिप्टी कलेक्टर  आरबी सिण्डोस्कर एवं सोनम जैन, सीएमएचओ डॉ.पी.बुनकर सहित जिला चिकित्सालय की व्यवस्थाओं की निगरानी करने नोडल अधिकारी मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments