एक सितंबर से खोले जायेंगे स्कूल-कॉलेज, सरकार कर रही है तैयारियाँ

 CLICK -  

नई दिल्ली। (प्रदेश केसरी) देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले 21 लाख के पार कर गये है। लेकिन इन हालातों के बीच केंद्र सरकार दोबारा से स्कूल खोलने की योजना पर काम कर रही है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार केंद्र ने एक सितंबर से 14 नवंबर के बीच चरणबद्ध तरीके से स्कूलों और अन्य शैक्षणिक संस्थानों को फिर से खोलने की योजना बनाई है।
ज्ञात हो कि कोरोना संकट के कारण मार्च के आखिरी हफ्ते से ही सभी स्कूल बंद हैं।
इस योजना के हिसाब से सचिवों के एक समूह के साथ चर्चा भी हो चुकी है। सूत्रों की मानें तो इसके लिए कोविड-19 का प्रबंधन देख रहे मंत्रियों के एक समूह को जिम्मेदारी सौंपी गई है। स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन मंत्रियों के इस समूह की अध्यक्षता कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि इस महीने के अंत तक कोरोना के लिए फाइनल अनलॉक गाइडलाइन जारी होने की उम्मीद है जिसमें इस फैसले को अधिसूचित करने का काम सरकार कर सकती है।

योजना के तौर-तरीकों पर विस्तार से चर्चा 

पूर्व में गठित केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए मंत्रियों का एक समूह बनाया था। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के नेतृत्व में इस समूह की बैठक हुई जिसमें मंत्रियों के समूह से जुड़े सचिवों के समूह द्वारा स्कूल खोलने की योजना के तौर-तरीकों पर विस्तार से चर्चा हुई।

अगले अनलॉक की गाइडलाइन में स्कूल के खुलने की संभावना 

रिपोर्ट के अनुसार स्कूलों को खोलने को लेकर फैसले के बारे में इस महीने के अंत तक सरकार दिशानिर्देश जारी कर सकती है। अंतिम निर्णय राज्य सरकारों पर छोड़ दिया जाएगा कि वह कैसे और कब छात्रों को कक्षाओं में वापस स्कूल लाते हैं और कक्षा का संचालन करवाते हैं। अगले अनलॉक की गाइडलाइन में स्कूल के खुलने की संभावना है, जो 1 सितंबर से लागू होगी।

जुलाई में हुआ था सर्वे 

आपको बताते चलें कि जुलाई में हुए एक सर्वे के अनुसार ज्यादातर अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल भेजने के पक्ष में नजर नहीं आ रहे थे। राज्य सरकारों का भी कहना है कि स्कूल न खुलने से ऐसे बच्चों को परेशानी का सामना करना पड रहा है, जो गरीब हैं और जिनके पास ऑनलाइन पढ़ाई के लिए सुविधा उपलब्ध नहीं है।

Post a Comment

0 Comments