बमौरी में जंगल कटाई व विवाद को लेकर हो रही महत्वपूर्ण बैठक में हंगामा, भीड़ हुई बेकाबू

सीसीएफ और डीएफओ के लेट होने से हो रही थी अनौपचारिक चर्चा , 50-60 लोगों को नोटिस जारी 

गुना। (प्रदेश केसरी) बमोरी क्षेत्र के जंगलों की कटाई और वन भूमि पर कब्जे को लेकर विभिन्न समुदायों के बीच विवाद को शांत करने के लिए सोमवार को पाटन रेस्ट हाउस में रखी गई पहली ही बैठक में हंगामा हो गया। बैठक में एसडीएम प्रियंका करचाम के अलावा वन विभाग के जिले के आला अधिकारी मौजूद थे। दो आदिवासी प्रतिनिधियों पर कटाई से आक्रोशित गांव के सैकड़ों लोग जबरन रेस्ट हाउस में उनका विरोध करने घुस गए जिनकी बीट गार्डों से हाथापाई हो गई।
दरअसल आदिवासी समुदाय के प्रतिनिधित्व के तौर पर दो लोगों को बुलाए जाने से लोग नाराज थे। इन गैर आदिवासियों का कहना था कि उक्त दोनों लोगों की अगुवाई में ही जंगल कटाई व कब्जे हो रहे हैं। दोनों को हमारे हवाले कर दिया जाए। अधिकारियों ने दोनों को रेस्ट हाउस के एक कमरे में छिपा दिया। दोनों एसडीओ और रेंजर ने भी खुद को एक कमरे में बंद कर लिया। लोगों ने कमरे का दरवाजा तोड़ने की कोशिश की और बीट गार्डों पर हमला कर दिया। एसडीओपी और वन अमले ने किसी तरह भीड़ को बाहर निकाला। इस मामले में बमौरी पुलिस द्वारा 50-60 लोगों को धारा 107,116 के तहत नोटिस जारी किए गए है।

Post a Comment

0 Comments