जहां राम का नाम जुड़ जाता है वहां मुर्हुत की जरूरत ही नहीं - महामंडलेश्वर राधे-राधे बाबा

महामंडलेश्वर राधे-राधे बाबा अयोध्या से लौटते समय गुुना में अल्प विश्राम के दौरान मीडिया से चर्चा करते हुए कही

Click -  

गुना। (प्रदेश केसरी) मप्र में भी भगवान राम के अयोध्या से राम वनवास के समय चित्रकूट और राम पद गमन आज भी मौजूद है। जिन का विकास होना अति आवश्यक है। हम इसको लेकर अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से चर्चा करेंगे। मप्र में भगवान राम 14 वर्ष वनवास के समय जिन-जिन जगहों पर रूके थे, उन सभी जगहों का विकास राज्य सरकार के द्वारा करवाने का प्रयास रहेगा। उक्त बात राम जन्मभूमि ट्रस्ट के सदस्य और मप्र से महामंडलेश्वर राधे-राधे बाबा ने अयोध्या से लौटते समय गुुना में अल्प विश्राम के दौरान मीडिया से चर्चा करते हुए कही। उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह द्वारा जो बयान दिया गया था कि चातुर्मास के समय कोई भी अच्छा मुहूर्त नहीं है इसके बावजूद भी भगवान राम जन्म भूमि का भूमि पूजन किया जा रहा है। इस पर उन्होंने कहा कि जहां भगवान राम का नाम जुड़ जाता है वहां पर कोई मुर्हुत की आवश्यकता नहीं होती। अच्छे कार्यों में हमेशा मुहूर्त नहीं अच्छी सोच होनी चाहिए। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी से दिग्विजय सिंह को इस बारे में शिक्षा लेनी चाहिए।

Post a Comment

0 Comments