भाजपा-कांग्रेस ने जमकर उड़ाई कोविड-19 नियमों की धज्जियां

जिम्मेदारों पर कार्रवाई की मांग को लेकर भाकपा ने सौंपा ज्ञापन

CLICK -  

गुना। (प्रदेश केसरी)  चुनावी आमसभाओं के नाम भाजपा, कांग्रेस सहित अन्य राजनीति दलों द्वारा जमकर कोविड-19 नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। जनता की जान को जोखिम में डालते कांग्रेस-भाजपा के उक्त कार्यक्रमों के खिलाफ भाकपा द्वारा शनिवार को कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा गया। भाकपा के जिला सचिव मनोहर मिरोटा ने बताया कि 24 सितंबर को कांगेस और 25 सितंबर को बीजेपी द्वारा चुनाव को लेकर कार्यक्रम या गयाउम्मीदवार केएल अग्रवाल और स्थानीय जिलाध्यक्ष सहित तामाम लोग मौजूद रहे। इस दौरान हजारों की । जिसके चलते कोरोना फैलने की आशंका है। कांग्रेस के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि पूर्व मंत्री जयवर्धन आयोजित कर हजारों लोगों की भीड़ जमा कर आपदा प्रबंधन अधिनियम एवं धारा 144  का उल्लंघन कि सिंह,  कांग्रेस उम्मीदवार केएल अग्रवाल और स्थानीय जिलाध्यक्ष सहित तामाम लोग मौजूद रहे। इस दौरान हजारों की तादात में लोगों को जमा किया गया। वहीं 25 सितम्बर को बमोरी में अंत्योदय मेले के नाम पर मुख्यमंत्री का कार्यक्रम हुआ। जिसमें मुख्यमंत्री शिवराजसिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया, गोपीलाल जाटव विधायक, ममता मीना, राजेन्द्र सिंह सलूजा, गजेन्द्र सिंह सिकरवार सहित 50 लोग मंच पर तथा पांडाल में हजारों की संख्या में लोगों को बसों से ढोकर लाया गया। ताकि मुख्यमंत्री के सामने  जन समर्थन जाहिर किया जा सके। जबकि केंद्र सरकार की गाईडलाईन के अनुसार अभी कोरोना के चलते सभी रैलियों ओर समारोह पर प्रतिबंध लगाया हुआ है।  सरकार ने मात्र 100 लोगों की अनुमति दी है। भाकपा के अनुसार उसने पहले भी जिला प्रशासन को इस बात की शिकायत की थी किन्तु आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। वही दूसरी तरफ आज जनता को मास्क न लगने पर 100- 200 रुपए वसूले जा रहे हैं। बड़ी बात यह है कि देश मे एक ही कानून को दो तरह से लागू किया जा रहा है जो कि असंवैधानिक है। ज्ञापन में जिम्मेदारों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की गई। ज्ञापन सौंपने वालो में मनोहर मिरोठा, योगेंद्र शर्मा, लक्षमीनारायण नामदेव आदि शामिल रहें।

Post a Comment

0 Comments