जुए के फड पर दबिश मारने गई धरनावदा पुलिस, भगदड़ के दौरान एक युवक की संदिग्ध मौत

परिजनों ने लगाया पुलिस पर मारपीट कर हत्या करने का आरोप

CLICK -  

गुना। (प्रदेश केसरी) जिले के धरनावदा थानांतर्गत ग्राम भुलाय के पास चल रहे जुए के फड पर अचानक पुलिस की दबिश के बाद भगदड़ में एक व्यक्ति की मौत हो गई। मृतक की लाश घटना स्थल से एक किमी दूर मिली है । घटना रविवार रात्रि की बताई जाती है। घटना के बाद क्षेत्र में तनाव फैल गया। सोमवार को मृतक का पीएम कराकर शव परिजनों को सौंपा। वहीं परिजनों ने मृतक की  हत्या का आरोप चार पुलिसकर्मियों पर लगाया। परिजनों ने इस संबंध में एसपी को शिकायत कर आरोपी पुलिसकर्मियो पर धारा 302 के तहत कार्रवाई की मांग की।
दरअसल मामले के अनुसार रविवार देर शाम ग्राम भुलाय में जुआ चल रहा था। जिसमें पुलिस द्वारा अचानक छापेमार कार्रवाई की गई। इस दौरान लक्ष्मणपुरा निवासी आकिर खान पुत्र छोटे खान (40) की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई। परिजनों के अनुसार मृतक अपने काम से शेखपुर जा रहा था। तभी रास्ते में भुलाय में चल रहे जुए में अचानक पुलिस ने दबिश दी तो भगदड़ मच गई। मृतक भी घबराकर भागने लगा, जबकि उसका जुआ से कोई संबंध नहीं था। परिजनों ने पुलिस पर आरोप लगाया कि घटना में पुलिस ने तीन-चार लोगों को गिरफ्तार किया और शेष को छोड़ दिया। इस दौरान आकिर के पीछे तीन-चार पुलिसकर्मी पकडऩे दौड़े। इस के बाद आकिर का शव संदिग्ध अवस्था में जंगल में मिला। मृतक के परिजनों ने धरनावदा थाने के पुलिसकर्मी दीपक त्रिपाठी, आदित्य, अमित भारद्वाज एवं एएसआई आरएन पचौरी पर मारपीट कर हत्या करने का आरोप लगाया। परिजनों के अनुसार मृतक का शव नग्र अवस्था में मिला है। इस दौरान उसका पर्स बगैरा भी गायब मिला। एसपी को दिए आवेदन में परिजनों ने आरोपी पुलिसकर्मियों पर 302 के तहत कार्रवाई करने की मांग की।

इनका कहना है 

पुलिस जुए के आरोपियों को पकड़ने गई थी उस वक्त कुछ लोग भाग खड़े हुये। मृतक की मौत कैसे हुई इसकी जांच की जा रही है। मृतक की मौत पुलिस से मारपीट से हुई है यह गलत है , इससे पुलिस का कोई लेना-देना नही है।      -विपेंद्र सिंह चौहान (थाना प्रभारी धरनावदा)

Post a Comment

0 Comments