निजी चिकित्‍सालय कोविड-19 के मरीजों का कर सकेंगे उपचार

ऑक्‍सीजन युक्‍त बिस्‍तर एवं कोविड-19 के मरीजों को पृथक रखने की व्‍यवस्‍था होना आवश्‍यक - कलेक्‍टर

CLICK -  

गुना। (प्रदेश केसरी) कलेक्‍टर कुमार पुरूषोत्‍तम ने कहा है कि कोविड-19 के मरीजों की संख्‍या में निरंतर वृद्धि हो रही है। इनमें से लक्षण रहित तथा कम लक्षण वाले मरीजों को होम आईसोलेशन तथा सीसीसी में उपचार दिया जा रहा है। परंतु गंभीर लक्षणों वाले तथा कोमोर्बिड मरीजों को उपचार हेतु ऑक्‍सीजन दिया जाना आवश्‍यक होता है। उन्‍होंने कहा है कि वर्तमान में इसे देखते हुए जिले में ऑक्‍सीजन युक्‍त बिस्‍तरों की संख्‍या बढा़ये जाने अत्‍यावश्‍यकता के मद्देनजर निजी चिकित्‍सा संस्‍थाओं में उपलब्‍ध ऑक्‍सीजन युक्‍त बिस्‍तरों को ऐसे गंभीर मरीजों के उपचार हेतु उपयोग में लाया जाये। इस हेतु उन्‍होंने मुख्‍य चिकित्‍सा एवं जिला स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारी को निर्देशित किया है कि जिले में जिन निजी चिकित्‍सालयों में कोविड-19 के मरीजों को पृथक से रखे जाने की सुविधा तथा ऑक्‍सीजन बिस्‍तर उपलब्‍ध है, ऐसे चिकित्‍सालय संचालनालय स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार अपनी संस्‍था में कोविड-19 के मरीजों को उपचार प्रदान कर सकते हैं। ऐसे चिकित्‍सालय को जिले की व्‍यवस्‍था के अनुसार कोविड-19 रोगियों की समस्‍त जानकारी प्रदान करें तथा जिला प्रशासन को सूचित करें। निजी चिकित्‍सालयों को कोविड-19 के मरीजों को उपचार देने हेतु पृथक से अनुमति प्राप्‍त करने की आवश्‍यकता नही होगी।

Post a Comment

0 Comments