फायनेंस कंपनी की मनमानी, किश्त नहीं चुकाने पर पुत्र को अपहरण कर बनाया बंधक

पीडि़त परिवार पहुंचा एसपी कार्यालय, पुत्र को छुड़वाने लगाई गुहार


CLICK -  

गुना। (प्रदेश केसरी) कोविड-19 के चलते बुरी तरह आर्थिक रूप से परेशान लोगों पर निजी फायनेंस कंपनी जमकर मनमानी कर रही हैं। लोन की किश्त नहीं चुकाने पर एचडीबी फायनेंस कंपनी के कर्मचारियों ने व्यक्ति के बेटे का अपहरण कर उसे कंपनी के स्टोर में बंद कर दिया। इस दौरान कंपनी कर्मचारियों द्वारा किश्त भरने का दबाव बनाते हुए युवक के साथ मारपीट भी की गई। युवक के परिजनों द्वारा बार-बार कंपनी के अधिकारी-कर्मचारियों से युवक को छोडऩे की गुहार लगाने के बावजूद जब उसे नहीं छोड़ा गया तो परिजनों ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर एसपी से गुहार लगाई। एसपी को दिए आवेदन में परिजनों ने बताया कि प्रार्थी महेन्द्र ओझा द्वारा एचडीबी फायनेंस कंपनी से लोन लिया था। जिसकी किश्त फरियादी द्वारा कोविद-19 के दौरान भी जमा की जाती रही। लेकिन पिछली दो किश्तें फरियादी की लंबित रही। ऐसे में बुधवार सुबह कंपनी के कर्मचारी शिवम श्रीवास्तव एवं अजहर अली प्रार्थी के घर आए और लोन की किश्त जमा नहीं करने पर प्रार्थी के पुत्र मिथुन को बलपूर्वक मारपीट करते हुए साथ ले गए। जब प्रार्थी का पुत्र काफी देर तक घर नहीं लौटा तो परिजन कंपनी के दफ्तर गए। जहां उन्होंने अधिकारियों से जल्द किश्त भरने की बात कहते हुए पुत्र को छोडऩे की गुहार लगाई, लेकिन कंपनी अधिकारियेां ने एक न सुनी। इस दौरान उनके पुत्र को कंपनी के स्टोर रूम में बंद कर मारपीट की गई। एसपी को दिए आवेदन में प्रार्थी द्वारा उसके पुत्र को कंपनी से मुक्त कराकर आरोपियों पर कार्रवाई की मांग की है।

Post a Comment

0 Comments