कमलनाथ के आइटम वाले बयान के खिलाफ मौन धरने पर बैठे भाजपाई, जलाया पुतला

भाजपा ने बताया महिलाओं और दलितों का अपमान तो कांग्रेस बोली, असल मुद्दों से ध्यान भटकाने का प्रयास


CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) प्रदेश के उप-चुनाव के बीच कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ के आइटम वाले बयान को भाजपा ने महिलाओं और दलित वर्ग का अपमान करार देते हुए सोमवार को दो घंटे का मौनव्रत रखा। साथ ही कमलनाथ से बयान पर माफी मांगने की मांग की गई । सुगन चौराहा स्थित बापू पार्क पर भाजपाजनों ने दो घंटे मौन रखकर विरोध जताया। तत्पश्चात सुगन चौराहे पर भाजपाजनों ने पूर्व सीएम कमलनाथ का पुतला फूंका। इधर कांग्रेस जिलाध्यक्ष हरिशंकर विजयवर्गीय एवं ब्लॉक अध्यक्ष दीपेश पाटनी ने इसे भाजपा पर असल मुददों से ध्यान भटकाने की राजनीति करने का आरोप लगाया है।
उल्लेखनीय है कि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने डबरा विधानसभा में रविवार को चुनाव प्रचार के दौरान बगैर किसी का नाम लिए कहा था कि इस क्षेत्र से जो विधायक रहे हैं वह आइटम है। इस बयान को मंत्री इमरती देवी से जोड़कर देखा गया, भाजपा के नेताओं ने इस बयान पर चौतरफा हमला बोला। प्रदेश नेतृत्व के निर्देश पर सोमवार को स्थानीय भाजपा नेताओं एवं महिला मंडल की कार्यकर्ताओं ने मौन व्रत रखा। इस मौके भाजपाजनों ने जमकर नारेबाजी कर कमलनाथ का पुतला भी फूंका। इस अवसर पर भाजपा के वक्ताओं ने कमल नाथ के बयान को नारी का अपमान और गरीब व अनुसूचित जाति का के खिलाफ बताया।

असल मुद्दों से जनता का ध्यान भटकाने का प्रयास- कांग्रेस


इधर कांग्रेस जिलाध्यक्ष हरिशंकर विजयवर्गीय एवं ब्लॉक अध्यक्ष दीपेश पाटनी का कहना है कि प्रदेश मेंं बालिका और महिला अपराध बढ़ रहे हैं, कोरोना का असर बढ़ते क्रम में है, चुनाव में 15 साल का शासन बनाम 15 माह जनता के सामने है। जनता के सामने भाजपा का चाल, चरित्र और चेहरा उजागर हो चुका है, भाजपा और शिवराज को अब सिर्फ कमल नाथ ही नजर आ रहे हैं। वे क्या खाते हैं, क्या पीते हैं, क्या पहनते हैं और क्या बोलते हैं। वास्तव में आम जनता के असल मुददों से ध्यान भटकाने में भाजपा लगी हुई है मगर उसे इसका कोई लाभ नहीं होने वाला। ऐसा इसलिए क्योंकि जनता भाजपा को जान गई है।

Post a Comment

0 Comments