बमोरी उपचुनाव: लोकशांति/लोक सुरक्षा एवं जनसाधारण के जीवन एवं सम्पत्ति की सुरक्षा के लिए प्रतिबंधात्‍मक आदेश जारी

कोविड-19 उपायों पर दिशा निर्देशों का उल्लंघन करने पर होगी कानूनी कार्रवाई

CLICK -  

गुना। (प्रदेश केसरी) भारत निर्वाचन आयोग की प्रेस विज्ञप्ति द्वारा गुना जिले के विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र 28-बमौरी के उप-निर्वाचन 2020 की घोषणा के साथ सम्पूर्ण गुना जिले मे आदर्श आचरण संहिता प्रभावशील हो चुकी है। जिसके अनुसार 03 नवंबर 2020 को मतदान प्रक्रिया सम्पन्न होना है। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा कोविड-19 के दौरान उप-निर्वाचन 2020 के दृष्टिगत आदर्श आचरण संहिता का पूर्णरूपेण पालन कराये जाने, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्वक सम्पन्न कराने तथा लोकशांति/लोक सुरक्षा एवं जनसाधारण के जीवन एवं सम्पत्ति की सुरक्षा के लिए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी कुमार पुरूषोत्तम द्वारा दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत प्रदत्त शक्तियों का उपयोग करते हुये प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किये गए हैं।
जारी आदेश में उन्‍होंने कहा है कि राजनैतिक दलों द्वारा प्रचार अभियान के अंतर्गत घर-घर अभियान के दौरान मौजूदा कोविड-19 दिशा निर्देशों सहित किसी भी अन्य प्रतिबंध के अधीन सुरक्षा कर्मियों को छोडकर उम्मीदवारों सहित 5 व्यक्तियों के एक समूह यदि कोई हो, तो घर-घर अभियान करने की अनुमति जारी की जा सकेगी। राजनैतिक दलों/प्रत्याशियो द्वारा प्रचार-प्रसार सबंधी कार्य/रोड-शो के प्रयोजन से प्रयोग लिये जाने वाली कारों/वाहनों के काफिले को 10 वाहनों (सुरक्षा वाहनों सहित) के स्थान पर हर 5 वाहनों के बाद तोड़ा जाने,  वाहनों के काफिले के दो सेटो के बीच अंतराल 100 मीटर के अंतराल के स्थान पर आधे घंटे का रखने के निर्देश दिए हैं। उन्‍होंने कहा है कि सभी बडे काफिलों को तोड़ दिया जायेगा तथापित यह किसी ऐसे व्यक्ति विशेष के बारे में जारी किए गये काफिलो को तोड दिया जायेगा तथापि यह किसी ऐसे व्यक्ति विशेष के बारे में जारी किये गये किसी सुरक्षा अनुदेशो के अध्यधीन होगा, अन्य शब्दों में काफिले में किसी भी स्थिति में किसी व्यक्ति को तीन वाहन और सुरक्षा वर्गीकरण की दृष्टि से उस व्यक्ति को अनुमत सुरक्षा वाहनो से अधिक नही होगें। जारी आदेश में उन्‍होंने चुनावी सभाएं-सार्वजनिक सभाएं/रैलियां मौजूदा कोविड-19 दिशा-निर्देशों के पालन के अध्येता आयोजित किये जाने निर्देश दिए गए हैं। जारी आदेश अंतर्गत पूर्व से चिन्हित, प्रवेश/निकास बिंदुओं के साथ सार्वजनिक सभा के लिए चयनित स्थलों पर ही अनुमति दिये जाने, ऐसे सभी चिन्हित स्थलों पर उपस्थित लोगों द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग मानदंडों को सुनिश्चित किया जाना आवश्यक होने, यह सुनिश्चित किया जाने कि उपस्थित लोगों की संख्या सार्वजनिक समारोहों के लिए राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा निर्धारित सीमा से अधिक नहीं होने निर्देशित किया गया है। उन्‍होंने कहा है कि संबंधित राजनीतिक दलों और उम्मीदवारों को प्रचार अभियान के दौरान यह सुनिश्चित करना चाहिए कि सभी कोविड-19 संबंधित आवश्यकताएं जैसे फेस मास्क, सैनिटाइजर, थर्मल स्कैनिंग आदि का पालन किया जा रहा है। निर्देशों का पालन न करने पर कोविड-19 उपायों पर दिशा निर्देशों का उल्लंघन करने वाला कोई भी व्यक्ति आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 से 60 के प्रावधानों एवं में भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत कानूनी कार्रवाई के लिये उत्तरदायी होगा।
इस आशय का जारी आदेश संपूर्ण गुना जिले की सीमा में निर्वाचन प्रक्रिया पूर्ण होने तक प्रभावशील रहेगा।

Post a Comment

0 Comments