29 साल से फरार रिछैरा के बहुचर्चित नरसंहार का हत्यारोपी बूटा सिंह गिरफ्तार

CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) जिले के कैंट थानांतर्गत ग्राम रिछैरा में हुए नरसंहार मामले में 29 साल से फरार हत्यारोपी बूटासिंह को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। वर्ष 1991 में सिख एवं जाट समाज के परिवारों के बीच हुए खूनी संघर्ष में सिख परिवार के एक व्यक्ति की मृत्यु हो जाने के बाद सिख परिवार के लोगों के द्वारा जाट समाज के 6 व्यक्तियों की हत्या कर दी गई थी। इस नरसंहार का एक आरोपी बूटा सिंह घटना कारित कर फरार हो गया था और जो अभी तक पुलिस की पकड़ से दूर बना हुआ था। इस घटना को अंजाम देने वाले अन्य 11 आरोपियों को न्यायालय द्वारा आजीवन कारावास की सजा से दंडित किया जा चुका है। न्यायालय द्वारा घटना के शेष फरार आरोपी बूटा सिंह की गिरफ्तारी हेतु स्थाई वारंट जारी किया गया था। जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस द्वारा लगातार प्रयास किए गए लेकिन जो अभी तलक पुलिस के हाथ नहीं आ पाया था। इस मामले के वर्तमान एसपी राजेश कुमार सिंह के संज्ञान में आने पर उनके द्वारा 29 सालों से फरार हत्यारोपी बूटा सिंह की तलाश हेतु एक विशेष टीम गठित कर टीम की मॉनीटरिंग स्वयं के द्वारा की गई। आरोपी बूटा सिंह की तलाश हेतु गठित टीम द्वारा लगातार किये गये अपने भरसक प्रयासों के फलस्वरूप पुलिस को आरोपी के वर्तमान में शिवपुरी जिले के थाना बदरवास क्षेत्रांतर्गत ग्राम केलधार में निवास करने की जानकारी मिलने पर टीम द्वारा तत्काल उसके ग्राम केलधार में दविश दी और जहां से आरोपी बूटा सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया।  आरोपी की गिरफ्तारी मेेंं उप निरीक्षक अमित अग्रवाल, सायवर सेल प्रभारी एएसआई मसी खान, हरि सिंह सेन, अजेन्द्रपाल सिंह, कुलदीप भदौरिया, प्रदीप शर्मा, प्रेम ग्वाल की सराहनीय भूमिका रही।

Post a Comment

0 Comments