वन विभाग के अधिकारी ने मजदूरों से खुदवाया गढ्डे, लेकिन नहीं दी मजदूरी

परेशान मजदूरों के जत्थे ने डाला कलेक्टोरेट में डेरा


CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) कोविद-19 और लॉकडाउन के चलते पहले से ही आर्थिक मंदी और बेरोजगारी झेल रहे मजदूरों को वन विभाग के एक अधिकारी द्वारा उनकी मजदूरी का भुगतान नहीं किया जा रहा है। जिसके चलते उक्त मजदूरों के समूह ने गुरुवार को बीनागंज से चलकर गुना पहुंचकर कलेक्टोरेट में डेरा डाल दिया। दरअसल मामले में प्रदेश के कटनी जिले के ग्राम पानउमरिया निवासी मजदूरों का समूह मजदूरी के लिए बीनागंज में वन विभाग अधिकारियों के बुलावे पर आया था। यहां मजदूर परिवारों द्वारा वन विभाग के एक अधिकारी के निर्देश पर 65 हजार गढ्डे खोदने का काम किया गया। मजदूरों को उक्त अधिकारी द्वारा प्रति गढ्डे 15 रुपए मजदूरी देने की बात कही गई थी। इस दौरान मजदूरों ने अपना काम पूरा कर दिया। लेकिन उन्हें मात्र थोड़ी बहुत राशि के अलावा कुछ नहीं मिला। इसके लिए वह बार-बार वनाधिकारी के समक्ष गुहार लगाते रहे। लेकिन इस बार उन्हें टालमटोल करते रहे। परेशान मजदूरों का उक्त जत्था कलेक्टर से मदद की आश में बीनागंज से चलकर कलेक्टोरेट पहुंचा। इधर वन विभाग के अधिकारियों को मजदूरों के कलेक्टोरेट पहुंचने की भनक के साथ उन्हें भुगतान का आश्वासन देेते हुए वन रक्षक भेजे गए, ताकि वह कलेक्टोरेट से वापस आ जाएं। लेकिन मजदूर पहले मजदूरी भुगतान फिर कुछ और बात सुनने पर अड़े रहे।

Post a Comment

0 Comments