भारतीय रेल: रेलवे ने 39 ओर स्पेशल ट्रेनों को संचालन को दी मंजूरी

सेवाओं को शुरू करने की जल्द होगी तारीख घोषित 


 CLICK -  

नई दिल्ली। (प्रदेश केसरी) भारतीय रेलवे ने पर्व त्योहारों के समय में बढ़ती भीड़ को देखते हुए अभी 39 और स्पेशल ट्रेनों के संचालन को मंजूरी दे दी है। हालांकि, जल्‍द ही इन ट्रेनों के सेवाओं की शुरुआत की तारीख की घोषणा की जाएगी। रेलवे मंत्रालय के अनुसार इस स्‍पेशल सर्विसेज की शुरुआत सुविधाजनक तारीख से की जाएगी।
भारत सरकार ने रेलवे बोर्ड को इन सभी ट्रेनों के परिचालन को शुरू करने की इजाजत दे दी है।
इसके बाद रेलवे बोर्ड ने इस बात की जानकारी सार्वजनिक की है।
इसके साथ ही मुंबई के डब्बावालों तथा विदेशी वाणिज्यिक दूतावासों और उच्चायोग के कर्मचारियों को लोकल ट्रेन में सफर करने की अनुमति दे दी गई है।
अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी। भारतीय रेलवे वर्तमान में लोकल ट्रेन केवल आवश्यक सेवाओं से जुड़े कर्मचारियों के लिए चलाई जा रही है।

रेलवे ने टिकट आरक्षण के नियमों में किया बड़ा बदलाव-

कोरोना संकट के बीच भारतीय रेलवे ने टिकट आरक्षण के नियमों को लेकर बड़ा बदलाव किया है। इसके तहत अब ट्रेनों में रिजर्वेशन का दूसरा चार्ट ट्रेन के स्टेशन से खुलने से आधे घंटे पहले जारी किया जाएगा। ये सुविधा 10 अक्टूबर से शुरू हो जाएगी। ये सिस्टम पहले भी लागू था लेकिन कोरोना संक्रमण के फैलने के बाद इसे पिछले कुछ महीनों से रोक दिया गया था।
कोविड से पहले की व्यवस्था के मुताबिक पहला रिजर्वेशन चार्ट ट्रेनों के निर्धारित प्रस्थान के समय से कम से कम चार घंटे पहले तैयार किया जाता था। ऐसा इसलिए ताकि बाद में उपलब्ध बर्थ द्वितीय आरक्षण तालिका के तैयार होने तक " पहले आओ-पहले पाओ" के आधार पर पीआरएस काउंटरों और इंटरनेट के माध्यम से बुक किये जा सकें।

कोरोना वायरस के कारण बदली थी व्यवस्था-

पहले की व्यवस्था के अनुसार दूसरा रिजर्वेशन चार्ट ट्रेनों के निर्धारित या परिवर्तित प्रस्थान समय से 30 मिनट से लेकर पांच मिनट पहले तक तैयार किया जाता था। पहले से बुक टिकट भी रिफंड के प्रावधानों के अनुसार इस दौरान रद्द किये जा सकते थे।
हालांकि, कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए दूसरी आरक्षण तालिका बनाने का समय ट्रेनों के निर्धारित/परिवर्तित प्रस्थान समय से आधा घंटा पहले से बढ़ाकर दो घंटा पहले कर दिया गया था।
रेल यात्रियों की सुविधा को देखते हुए जोनल रेलवे द्वारा किये गये अनुरोध के बाद इस मामले पर विचार किया गया। ये फैसला हुआ कि दूसरी चार्ट ट्रेनों के निर्धारित/परिवर्तित प्रस्थान समय से कम से कम आधा घंटा पहले तैयार कर ली जाए।

आधे घंटे पहले तक टिकट बुकिंग की सुविधा

साथ ही ऑनलाइन और पीआरएस टिकट काउंटरों पर टिकट बुकिंग की सुविधा भी दूसरी चार्ट के तैयार होने से पहले तक मौजूद होगी। यात्री रेल टिकट आईआरसीटीसी वेबसाइट और एप के जरिए भी बुक कर सकेंगे। आरक्षण के नए सिस्टम के लिए सीआरआईएस सॉफ्टवेयर में जरूरी बदलाव होगा ताकि दस अक्टूबर से इस व्यवस्था को बहाल किया जा सके।
बता दें कि लॉकडाउन के बाद से रेलवे ने 25 मार्च से ही सभी पैसेंजर ट्रेनों को रद्द कर रखा है। हालांकि, चरणबद्ध तरीके से इनकी शुरुआत अब हो रही है लेकिन ये स्पेशल ट्रेन के तौर पर चलाए जा रहे हैं। रेलवे ने सबसे पहले 1 मई से श्रमिक स्पेशल ट्रेन शुरू की थी। बाद में कई और ट्रेनों को शुरू किया गया। हाल में रेलवे ने 20 जोड़ी क्लोन ट्रेनों की भी शुरुआत की है।


Post a Comment

0 Comments