हाथों में मोमबत्ती लेकर हाथरस घटना का किया विरोध

गुना। (प्रदेश केसरी) उप्र के हाथरस जिले में युवती के साथ हुई दुष्कर्म और निर्मम हत्या के खिलाफ गत शाम वाल्मिीक समाज एवं स्थानीय युवाओं ने जयस्तंभ चौराहे पर हाथों में मोमबत्ती लेकर विरोध प्रदर्शन किया। जयस्तंभ चौराहे पर एकत्र होकर युवाओं ने मोमबत्ती जलाकर पीडि़ता की दिवंगत आत्मा की शांति के लिये दो मिनट का मौन धारण कर ईश्वर से प्रार्थना की। इस दौरान घटना के विरोध में प्रदर्शन भी किया गया। इस दौरान पूर्व नेता प्रतिपक्ष नपा सुनील मालवीय ने कहा कि हाथरस में लड़की के साथ हुई घटना से साफ है कि उप्र में कानून व्यवस्था ध्वस्त है। हत्या, बलात्कार,लूट जैसे जघन्य अपराध कर अपराधी नेताओं के संरक्षण में खुले आम घूम रहे हैं। उन्होंने कहा कि हाथरस की घटना में अपराधियो की पहचान सार्वजनिक नहीं की गयी है। पुलिस और प्रशासन क्यों उनके साथ नम्रता का व्यवहार कर रहा है, यह समझ से परे है। हाथरस की बेटी के साथ इतनी हैवानियत की गई, जिसे सुनकर रूह कांप रहा है। इस दौरान सुनील मालवीय, महेन्द्र वाल्मीक, राकेश वाल्मिक, सतीश वाल्मिक, विशाल वाल्मिकी, तरुण वाल्मिक, शुभम वाल्मीक, नीरज वाल्मीक, सचिन वाल्मीक, अमन वाल्मीक, धनराज वाल्मीक, यशवंत वाल्मीक, सूरज वाल्मीक, सोरभ वाल्मीक, शिवा वाल्मीक, छोटू वाल्मीक, मनीष वाल्मीक, आदर्श वाल्मीक, करण वाल्मीक आदि उपस्थित थे।

महिला संगठनों ने सौंपा ज्ञापन

इधर घटना के विरोध में प्रदर्शन करते हुए महिला संगठन एआईएमएसएस, एआईडीवायओ एवं एआईडीएसओ ने संयुक्त रुप ज्ञापन सौंपकर आरोपियों को उदाहरणमूलक सजा देने की मांग की। ज्ञापन में मांग की गई कि इस मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में की जाए और चारों अपराधियों को कड़ी व उदाहरणमूलक सजा दी जाए। इसके अलावा अश्लीलता, अपसंसकृति और शराब-नशे पर रोक लगाई जाए। इस दौरान जोशीले नारों के साथ कलेक्टोरेट में प्रदर्शन हुआ। इस मौके पर संगीता आरबी, मनोज रजक तथा नारायणसिंह आदि उपस्थित रहे। वहीं कांग्रेस कमेटी द्वारा शाम को जयस्तंभ चौराहे पर कैंडली मार्च निकालकर मृतक को श्रद्धांजलि दी और दोषियों पर सख्त कार्रवाई की मांग की गई।

Post a Comment

0 Comments