फीस को लेकर शांति पब्लिक स्कूल की मनमानी के खिलाफ लामबंद पालकों ने घेरा स्कूल

स्कूल गेट के आगे धरने पर बैठे अभिभावक, कोर्ट की गाईडलाईन का उल्लंघन कर रहा है स्कूल


CLICK -  

गुना। (प्रदेश केसरी) स्कूल फीस को लेकर लगातार दूसरे दिन शांति पब्लिक स्कूल पर अभिभावकों ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान स्कूल प्रबंधन द्वारा पालकों से कोई बातचीत नहीं करने से नाराज पालक ने पहले स्कूल में जमकर नारेबाजी की। जिसके बाद पालक स्कूल गेट के सामने पोस्ट ऑफिस रोड पर जाम लगाते हुए धरने पर बैठ गये। जिसके चलते काफी देर तक यातायात प्रभावित रहा। बाद में मौके पर सिटी कोतवाली टीआई उमेश मिश्रा सहित पुलिस बल के पहुंचने पर जाम को खुलवाया। इस दौरान पुलिस के साथ कुछ पालकों के प्रतिनिधि मंडल ने स्कूल प्रबंधन से बातचीत की। लेकिन यह बातचीत असफल रही। ऐसे में गुरुवार को पुन: स्कूल में हंगामा होने की संभावना है।
दरअसल कोविड-19 में भारी आर्थिक मंदी का सामना कर रहे लोग निजी स्कूलों द्वारा फीस के नाम पर मनमानी करने से परेशान है। इन्हीं मनमानियों के खिलाफ पूर्व में शहर के चर्चित स्कूल क्राईस्ट एवं वंदना पालकों के विरोध का सामना कर चुके हैं। पिछले कुछ दिनों से शांति पब्लिक स्कूल द्वारा लगातार मैसेज और फोन करके फीस जमा करने को लेकर अभिभावकों पर दबाव बनाया जा रहा है। जिसके चलते बुधवार को स्कूल पहुंचे अभिभावकों का गुस्सा फूट पड़ा। दरअसल अभिभावकों का कहना है कि वह कोर्ट द्वारा फीस को लेकर जारी गाईडलाईन का पालन करना चाहते हैं, लेकिन निजी स्कूल इसका उल्लंघन कर रहे हैं। पालकों के अनुसार शांति पब्लिक स्कूल प्रबंधन द्वारा लॉकडाउन के पूर्व एडमिशन सहित विभिन्न गतिविधियों के नाम पर 7 से 8 हजार रुपए जमा कराए गए थे। जिसके बाद स्कूल लॉकडाउन के चलते बंद रहे। ऐसे में स्कूल प्रबंधन द्वारा पुन: ट्यूशन फीस जमा करने को दबाव बनाया जा रहा है।
वहीं पालकों का कहा है कि वह ट्यूशन फीस जमा करने तैयार है, लेकिन कोर्ट के आदेशानुसार अन्य गतिवधियों के नाम पर लिए पैसों  को ट्यूशन फीस में एडजस्ट किया जाए। इसको लेकर पिछले दो दिनों से स्कूल में हंगामा चल रहा है। वहीं पूरे विवाद में प्राचार्य सहित स्कूल स्टॉफ कोई संतोषजनक जबाव नहीं दे सका। वहीं स्कूल प्रबंधन द्वारा पालकों से बातचीत करने का प्रयास भी नहीं किया गया। बुधवार सुबह स्कूल में जमा हुए बड़ी संख्या में पालकों ने स्कूल प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर नो स्कूल नो फीस के नारे लगाए।


छेड़छाड़ के आरोपों पर महिलाओं ने संभाला मोर्चा


पूरे विरोध प्रदर्शन के दौरान महिलाओं ने मोर्चा संभाला। इस दौरान स्कूल प्रबंधन द्वारा पुलिस को गलत सूचना देते हुए स्कूल स्टॉफ के छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया। जिसके विरोध में महिलाओं ने स्कूल प्रबंधन को जमकर खरीखोटी सुनाते हुए कहा कि पूरे विरोध में महिलाएं ज्यादा है ऐसे में कोई महिला, महिला के साथ कैसे छेडख़ानी कर सकती है। झूठ बोलने की भी हद होती है। बकौल महिलाओं के अनुसार स्कूल प्रबंधन द्वारा कोर्ट की गाईडलाईन का उल्लंघन कर पालकों पर भी उलटे इल्जाम लगाकर दबाव बनाया जा रहा है। पालकों के अनुसार फीस जमा नहीं करने पर स्कूल द्वारा बच्चों को ऑनलाईन पढ़ाई की पासवर्ड एवं आईडी उपलब्ध नहीं कराई जा रही है।

Post a Comment

0 Comments