त्‍यौहारों एवं पर्वो पर धार्मिक आयोजनों एवं कार्यक्रमों के लिए पूर्व अनुमति आवश्‍यक

रात्रि 10 बजे के बाद नही बज सकेंगे ध्‍वनि विस्‍तारक यंत्र और न ही लोग घूम सकेंगे अनावश्‍यक


CLICK -  

गुना। (प्रदेश केसरी) कलेक्‍टर एवं जिला दण्‍डाधिकारी कुमार पुरूषोत्‍तम ने दुर्गा झांकियों एवं ताजियों के आयोजकों से कहा है कि कोरोना महामारी एवं निर्वाचन के मद्देनजर जारी भारत सरकार, गृह मंत्रालय एवं जिला प्रशासन द्वारा जारी आदेशों एवं प्रतिबंधों का पालन करना सुनिश्चित करने कि आयोजकों की जिम्‍मेदारी रहेगी। उल्‍लंघन होने पर उनके विरूद्ध नियमानुसार कार्रवाई होगी।
उन्‍होंने कहा कि आयोजकों को आयोजित झांकी एवं ताजिया स्‍थल की वीडियोग्राफी करानी होगी। रात्रि 10:00 बजे के बाद ध्‍वनि विस्‍तारक यंत्रों का उपयोग प्रतिबंधित है, उल्‍लंघन पर उपकरण जप्‍त होंगे। चेहल्‍लुम, दुर्गा प्रतिमा एवं ताजिया विसर्जन के दौरान जुलूस नहीं निकल सकेंगे। इस हेतु केवल 10-10 व्‍यक्ति ही शामिल होंगे एवं निर्धारित अंतराल के बाद ही विसर्जन स्‍थल तक पहुंचेंगे। इस हेतु समस्‍त गतिविधियां रात्रि 10:00 बजे के पूर्व अनिवार्यत: समाप्‍त करनी होगी। 
उन्‍होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोविड-19 की वैक्‍सीन नही बनी है। सामाजिक दूरी और मास्‍क को चेहरे से ढंकना ही संक्रमण से बचने का एकमात्र उपाय है। त्‍यौहारों एवं पर्व मनाएं लेकिन कोरोना संक्रमण के फैलाव से बचते हुए।
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह ने पर्वो एवं त्‍यौहारों तथा निर्वाचन के मद्देनजर धार्मिक कार्यक्रम के आयोजक क्‍या करें एवं क्‍या न करें कि जानकारी समिति सदस्‍यों को दी तथा जानकारियां अपने-अपने धार्मिक कार्यक्रम आयोजकों को देने कि अपील की।
उन्‍होने कहा कि रात्रि 10:00 बजे के बाद कोई भी धार्मिक गतिविधियां नहीं होगी। इसके पूर्व सभी संबंधित आयोजक अपनी-अपनी गतिविधियां अनिवार्यत: पूरी कर लें। इसमें किसी भी धार्मिक आयोजक को किसी भी प्रकार की कोई रियायत नहीं होगी।
उन्होंने कहा कि दुर्गा झांकियां एवं ताजियादारों को धार्मिक आयोजन एवं कार्यक्रम, मूर्ति एवं ताजिया विसर्जन के लिए पूर्व अनुमति लेनी आवश्यक होगी।  भंडारे कोरोना संक्रमण के फैलाव की संभावनाओं को बढाएंगे। उन्होंने सभी धार्मिक आयोजनों में निर्वाचन के मद्देनजर प्रभावशील आदर्श आचार संहिता का पालन करने की बात कही। उन्होंने कहा कि जारी निर्देशों एवं प्रतिबंधों का सभी धार्मिक कार्यक्रम के आयोजक पालन करना सुनिश्चित करें ताकि उन्हें अनावश्यक परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े।
बैठक में त्‍यौहारों एवं पर्वो के मद्देनजर साफ-सफाई, विद्युत, पेयजल तथा कानून व्‍यवस्‍था बनाए रखने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया।
इस मौके पर शांति समिति के समस्‍त धर्मो के प्रतिनिधियों द्वारा अपने-अपने धार्मिक आयोजन जिला प्रशासन के आदेशों एव निर्देशों के अनुरूप करने तथा जिला प्रशासन को पूर्ण सहयोग प्रदान करने का आश्‍वासन दिया गया। 
इस अवसर पर डिप्‍टी कलेक्‍टर श्रीमति सोनम जैन, अनुविभागीय दण्‍डाधिकारी राजस्‍व गुना-बमौरी सुश्री अंकिता जैन सहित विभिन्‍न विभागों के कार्यालय प्रमुख तथा विभिन्‍न धर्म प्रमुख मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments