राजस्थान: जमीन विवाद में मंदिर के पुजारी को जिंदा जलाया, इलाज के दौरान मौत

CLICK -  

जयपुर। (प्रदेश केसरी) राजस्थान के करौली जिले में भूमि विवाद में एक पुजारी को जिंदा जलाने का मामला सामने आया है। पेट्रोल डालकर कुछ लोगों ने पुजारी को जिंदा जलाने की कोशिश की। घटना में बुरी तरह से झुलसे पुजारी को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनकी मौत हो गई है। 
पुजारी ने पुलिस को बताया कि कुछ लोगों ने उस पर हमला किया था और पेट्रोल छिड़कर जिंदा जलाने की कोशिश की थी। 
यह विवाद मंदिर की जमीन का बताया जा रहा है। पुजारी को आय के स्त्रोत के रूप में मंदिर के ट्रस्ट की ओर से 13 बीघा जमीन दी गई थी। गांव के पुजारी बाबू लाल वैष्णव अपनी जमीन के पास स्थित एक प्लॉट पर अपना घर बनाना चाहते थे। मीणा समुदाय के कुछ लोगों ने इसका विरोध किया और जमीन को अपना बताया विवाद होने पर यह मामला गांव के बुजुर्गों के पास पहुंचा, सभी बुजुर्गों ने पुजारी के पक्ष में फैसला बताया। जिसकी वजह से दोनों पक्षों में विवाद हो गया। 

बीजेपी बोली- गहलोत सरकार का इस्तीफा लें या हालात सुधारने के लिए कदम उठाएं राहुल।
भारतीय जनता पार्टी ने राजस्थान में अपराध की घटनाओं को लेकर राज्य में कांग्रेस की गहलोत सरकार पर निशाना साधा है। साथ में बीजेपी ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा है। बीजेपी ने कहा कि राहुल गांधी को बीजेपी शासित राज्यों का दौरा करने के बजाय इस पर भी ध्यान देना चाहिए जहां कानून व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। बीजेपी नेताओं सहित केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कांग्रेस शासित राज्य राजस्थान के करौली में भूमि विवाद को लेकर कथित रूप से एक पुजारी को जिंदा जलाने और निर्मम हत्या का हवाला दिया। इसके साथ-साथ उन्हान हाल ही में राजस्थान में रेप और अन्य अपराधों का लेकर कांग्रेस पर तीखा हमला किया। राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए, जावड़ेकर ने कहा, राजनीतिक पर्यटन पर अलग-अलग जगहों पर जाने के बजाय, उन्हें महिलाओं के खिलाफ जघन्य अपराधों का संज्ञान लेना चाहिए और राजस्थान के लोगों से माफी मांगनी चाहिए कि उनकी सरकार विफल रही है।

Post a Comment

0 Comments