हां मैं नंगा-भूखा हूं क्योंकि मैं गरीबों की सेवा करता हूँ , कमलनाथ-दिग्विजय क्या जाने गरीबों की पीड़ा- सीएम शिवराज सिंह

बमौरी विधानसभा के परवाह की आमसभा को संबोधित


CLICK -  

गुना। (प्रदेश केसरी) मैं गरीब की सेवा करता है, इसलिए भूखा नंगा हूं। इसलिए गरीबों को एक रुपए किलो गेहूं खिलाता हूं। गरीब बेटियों को प्रसूति के लिए पैसा देता है, गरीब बच्चियों को कन्यादान करता हूं, अंतिम संस्कार के लिए गरीबों के परिवारों को मदद हूं। है मैं नंगा-भूखा हूँ इसलिए बुजुर्गों को तीर्थयात्रा करवाता हूं, फसल बर्बाद होने पर किसानों को मुआवजा देता हूं। वो उद्योगपति है उनकी अमीरी उन्हें मुबारक। वो क्या जाने गरीबों की पीड़ा। हमें नंगा भूखा ही रहने दो ताकि हम गरीबों की सेवा कर सकें।
उक्त बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हवाई अड्डे पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए कही। इस दौरान उनके साथ राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी साथ थे। दोनों नेतागण बमोरी उपचुनाव के मद्देनजर परवाह में आयोजित आमसभा को संबोधित करने जा रहे थे।
इधर परवाह में आयोजित आमसभा को सीएम ने ठेठ देशी अंदाज में  संबोधित किया। सीएम शिवराज ने कर्ज माफी कमलनाथ और दिग्विजय सिंह को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि मरी हुई चुहिया की पूंछ पकड़ कर कमलनाथ और दिग्विजय घूम रहे हैं। कर्जमाफी किसानों के साथ धोखा था।

बच्चे कहते हैं आई लव यू तो मैं कहता आई लव यू टू


शिवराज सिंह चौहान से सभा में कहा कि जब मैं हैलीकाप्टर से उतरा तो बच्चे कह रहे थे माम आई लव यू, तो मैंने भी कहा कि आई लव यू टू। सीएम ने कहा कि सत्यानसियों ने होनहार बच्चों की फीस भरना बंद और कफन दफन तक के पैसे बंद कर दिए थे। सारी जन कल्याण कारी योजनाएं बंद कर दीं थीं। अब फिर से योजनाएं शुरु कर दी हैं।



कमलनाथ दादा अच्छे अथवा मामा


सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सभा में अपने पांच माह में किसानों को भेजी गई राशि का हिसाब गिनाते हुए कहा कि 23 हजार करोड़ पांच सौ 98 लाख रुपए अभी तक वह किसानों के खाते में बीमा, मुआवजा किसान स मान निधि जैसी योजनाओं के माध्मय से किसानों के खाते में डलवा चुके हैं। जबकि कमलनाथ दादा ने किसानों की बीमा की किस्त भी नहीं भरी। न कर्ज माफ किया। अब आप बताओ कमलनाथ दादा अच्छे अथवा मामा।

मैं तो झोला लेकर घूम रहा था, सिंधिया जी ने बनवा दिया सीएम


सीएम शिवराज सिह चौहान के कहा कि सरकार जाने के बाद झोला लेकर घूम रहा था। किसानों और जनता से पूछ रहा था कि हमसे का गलती हुई जो ई सजा हमको दी। ऐसे में कमलनाथ सरकार से नाराज होकर ज्योतिरादित्य सिंधिया और महेंद्र सिंह सिसोदिया ने अपने 22 साथियों के साथ मिलकर यह सरकार गिरा दी। हमसे कहा आप सीएम बन जाओ। तो मै सीएम बन गया। लेकिन आपका मामा अभी अस्थाई सीएम है। अगर मामा को स्थाई सीएम बनाना है तो महेंद्र सिंह सिसोदिया को जितना जरुरी है।

आखिरकार मंच पर आए सांसद केपी यादव


सांसद केपी यादव ने कहा कि पिछले कांग्रेस सरकार ने किसान मजदूरों के साथ धोखा दिया, किसान कर्ज माफी और युवाओं को बेराजगारी भत्ते देने जैसे लुभाने वादे करके कांग्रेस सरकार सत्ता में आई ,लेकिन न कर्ज माफ हुआ और न ही युवाओं को बेरोजगारी भत्ता मिला। इसके विपरीत पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सिंह चौहान द्वारा चलाई गई तमाम योजनाएं बंद कर दीं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासन से जनता परेशान हो गई थी। जनता ही नहीं कांग्रेस के लोग भी परेशान हो गए थे। इसके चलते ज्योतिरादित्य सिंधिया जी ने इस सरकार को गिरा दिया। पिछले पांच माह में शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में फिर से सभी जनकल्याण कारी योजनाएं शुरु हो गईं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की खुशियाली के लिए भाजपा उम्मीदवार महेंद्र सिंह सिसोदिया को विजय बनाएं।

Post a Comment

0 Comments