जुलूस निकालने पर दो समुदायों के 600 से अधिक लोगों पर एफआईआर दर्ज


CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) जुलूस निकालने के मामले में दो समुदायों के 600 से अधिक लोगों पर थाना सिटी कोतवाली पुलिस ने बीती रात दो अलग-अलग एफआईआर दर्ज की हैं। इनमें से एक मामला 6 मस्जिदों से निकाले गए मिलादुन्नबी के जुलूस पर जबकि दूसरा मामला खटीक समाज द्वारा निकाले गए जुलूस पर दर्ज किया गया है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दोनों ही एफआईआर में फरियादी श्रीराम कॉलोनी निवासी संतोष पुत्र राम प्रसाद सेन उम्र 30 वर्ष है।

इस तरह दर्ज हुई पहली एफआईआर


संतोष सेन ने रात 11 बजे सिटी कोतवाली में शिकायत प्रस्तुत की कि वह शहर में भीड़ भाड़ देख कर घूम रहा था तो उसने देखा कि जामा मस्जिद सदर बाजार से आशिक खान के नेतृत्व में 40-50 लोग, कर्नलगंज मस्जिद से शरीफ कुरैशी के नेतृत्व में 50-60 लोग, तलैया मोहल्ला से शब्बू कुरैशी के नेतृत्व में 50-60 लोग, हड्डी मिल मस्जिद से अमीन खान के नेतृत्व में 40-50 लोग, पुरानी छावनी मस्जिद से बंटी खां के नेतृत्व में 50-60 लोग, अबूबक्र मस्जिद बूढ़े बालाजी से फरीद खान के नेतृत्व में 40-50 लोग ईद मिलाद उन नबी का जुलूस करीबन दिन के 1 बजे से 6 बजे के बीच निकाल कर शहर में भ्रमण किए थे। जबकि कोरोना की महामारी चल रही है तथा विधानसभा उपचुनाव की आचार संहिता भी लगी है। आचार संहिता में श्रीमान कलेक्टर साहब द्वारा जुलूस आदि निकालने पर प्रतिबंध लगाए हैं जो दैनिक समाचार पत्रों में भी छपा था यह लोग सब जानते हुए भी बिना मास्क के जुलूस निकाला जिससे कोरोना संक्रमण और फैल सकता है। पुलिस ने इस शिकायत पर आरोपी आसिफ खान, शरीफ कुरैशी शब्बू कुरेशी अमीन खान बंटी खान फरीद खान व 300 अन्य लोगों के विरुद्ध अपराध क्रमांक 982 पर धारा 147, 149, 270, 188 आईपीसी, धारा 51 आपदा प्रबंधन अधिनियम तथा धारा 3 महामारी अधिनियम के अंतर्गत रात करीब साढ़े ग्यारह बजे एफआईआर दर्ज कर की।

प्रशासन का दोगलापन


मुस्लिम समाज के अध्यक्ष काले खान ने इस एफआईआर को प्रशासन का दोगलापन करार दिया है। उनका कहना है कि शहर में रोज नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं, लेकिन हम गरीब लोग हैं इसलिए हम पर एफआईआर दर्ज कर दी गई, जबकि हम हमारा धार्मिक आयोजन कर रहे थे और हमने दूरी भी बना रखी थी।

1 घंटे के दौरान हुई दूसरी एफआईआर


इसके 1 घंटे बाद रात 12 बजे संतोष सेन ने एक दूसरा आवेदन सिटी कोतवाली पुलिस को पेश किया। इस शिकायत में भी उसने बताया कि आज गुना शहर में भीड़ भाड़ देख कर घूम रहा था मैंने देखा कि निचला बाजार गुना से रोहित खटीक ने खटीक समाज का जुलूस निकाला था, जिसमें लगभग 300 लोग होंगे। जुलूस करीबन दिन के 1 से 5 के बीच निकालकर शहर में भ्रमण किए थे जबकि कोरोना संक्रमण फैल रहा है, तथा विधानसभा उप चुनाव की आचार संहिता भी लगी है। आचार संहिता में श्रीमान कलेक्टर साहब द्वारा जुलूस आदि निकालने पर प्रतिबंध भी लगाए हैं जो दैनिक समाचार पत्रों में भी छपा था। यह लोग सब जानते हुए भी बिना मास्क के जुलूस निकाल थे, जिससे कोरोना संक्रमण और फैल सकता है। पुलिस ने इस शिकायत पर रोहित खटीक व अन्य 300 लोगों के विरुद्ध अपराध क्रमांक 983 पर धारा 147, 149, 270, 188 आईपीसी, धारा 51 आपदा प्रबंधन अधिनियम तथा धारा 3 महामारी अधिनियम के अंतर्गत बीती रात 12:15 बजे एफआईआर दर्ज कर ली है।

इनका कहना है


मां कालका झांकी समिति खटीक मोहल्ला हाटरोड के रंजीत खटीक ने बताया कि हमारे समाज ने 30 अक्टूबर को कोई जुलूस नहीं निकाला। नव दुर्गा उत्सव के दौरान परंपरा के अनुसार मैया की झांकी लगाकर प्रतिमा स्थापित की थी। 25 अक्टूबर को मैया की प्रतिमा का विसर्जन करने गए थे। ऐसे में 5 दिन बाद आधी रात को एफआईआर कायम कर लेना किसी भी तरह से ठीक नहीं है।

Post a Comment

0 Comments