जिंदगी की जंग हार गया निवाड़ी में बोरवेल में फंसा बालक प्रहलाद

निवाड़ी के सैतपुरा गांव में बोरवेल में गिरे बच्चे की लाश चौथे दिन निकाली जा सकी



CLICK -

भोपाल। (प्रदेश केसरी) मध्य प्रदेश के निवाड़ी जिले में पृथ्वीपुर थाना क्षेत्र के जेतपुरा गांव में बोरवेल में फंसा 4 वर्षीय मासूम प्रहलाद आखिर जिंदगी की जंग हार गया। शनिवार-रविवार दरमियानी रात लगभग 3 बजे उसे बाहर निकाला गया, जिसके बाद उसे रेस्क्यू टीम अस्पताल लेकर पहुंची जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। करीब 90 घंटे से प्रहलाद बोरवेल में 60 फिट नीचे फंसा रहा। इस घटना ने एक बार फिर यह साबित कर दिया कि हमारा जमीनी सिस्टम कितना कमजोर है, इतना लंबा समय मिलने के बाद भी बालक को नही बचाया जा सका। उधर प्रहलाद की सकुशल वापस निकलने का इंतजार कर रहे माता-पिता और परिवार के लोगों का रो-रोकर बुरा हाल है। बालक के मृत सूचना मिलने के बाद गांव में मातम पसर गया है।


 बोरवेल में गिरे बच्चे को सुरक्षित निकालने में प्रशासन रहा नाकाम 


जानकारी के अनुसार बीना रिफाइनरी से बुलाई गई ड्रिलिंग मशीन से टनल बनाई जा रही थी, लेकिन काफी खुदाई के बाद पता चला कि अलाइनमेंट में गड़बड़ी हो गई है। यानि खुदाई दूसरी दिशा में की जा रही थी, इस कारण बच्चे तक नहीं पहुंचा जा सका। बाद में अलाइनमेंट ठीक करके दोबारा कार्य शुरू किया गया, लेकिन सफलता न मिलने के कारण देर रात काम बंद कर दिया। इससे यह साबित होता है कि मोके पर मौजूद प्रशासन हवा में काम कर रहा था।

Post a Comment

0 Comments