नियमों को दरकिनार कर काटी जा रही श्रीजीपुरम कालोनी, मूलभूत सुविधाओं का अभाव

आरोन नगर में अवैध तरीके से काटे जा रहे प्लाट, आमजन ने की शिकायत 



CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) जिलेभर में एक बार फिर अवैध कॉलोनियों का कारोबार जमकर फलना-फूलना शुरू हो गया है। कॉलोनाईजर लोगों को मूलभूत सुविधाओं का वादा करके प्लॉट तो दे देते हैं, लेकिन उनको सुविधाएं उपलब्ध नही करा पा रहे। ऐसा ही एक उदाहरण आरोन नगर के मूडरा रोड स्थित श्रीजी पुरम कालोनी का सामने आया है। यहां भी लोगों को सपने दिखाकर और तरह-तरह के झूठे वायदे करके चूना लगा रहें हैं।  कॉलोनाईजर लोगों को सपनों का घर बनाने का वादा करके अवैध तरीके से नियम विरूद्ध प्लॉट काट रहे हैं। इसकी चर्चा कस्बे में जोरों पर है और चौक-चौराहों पर इसकी चर्चा भी है कि लोगों को सुविधाओं के नाम पर भ्रमित किया जा रहा है। ऐसे में आमजन ने शिकायत की है कि उक्त कालोनी में नियम विरूद्ध प्लॉट काटने के साथ सम्पूर्ण सुविधाओं का अभाव है इसकी जांच की जाए। 
दरअसल मामला ये है कि मूडराखुर्द रोड पर बन रही श्रीजीपुरम कालोनी की रहवासियों और आम नागरिकों ने शिकायत करते हुए कार्यवाही की मांग की है। कालोनी में अवैध रूप से प्लॉटिंग करके लोगों को घर बनाने के सपने और तरह-तरह के प्रलोभन दे रहे हैं। खास बात यह है सब कुछ प्रशासन की नाक के नीचे हो रहा है, लेकिन जिम्मेदारों को कुछ दिखाई नहीं दे रहा। ऐसे में कॉलोनाईजर किसानों, मध्यम वर्गीय लोगों और सरकारी कर्मचारियों के साथ छलावा कर रहे हैं। उक्त लोगों पर कालोनाइजरों की नजर पड़ गई है, इसके चलते अवैध रूप से प्लॉट काटकर अपना उल्लू सीधा कर रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि आरोन नगर में एक बार फिर कॉलोनाईजरों के झूठे वायदों का दौर शुरू हो गया है।

कॉलोनी में सुविधाओं का नहीं मिल रहा लाभ


देखा जाए तो कॉलोनी में नियम के मुताबिक बिजली, पानी, डायवर्सन, रेरा, पच्चीस प्रतिशत प्लॉट कमजोर वर्ग, अनुसूचित जाति वर्ग के लिए आरक्षित होना चाहिए, लेकिन इन तमाम सुविधाओं के बीच अवैध तरीके से कालोनी में प्लॉटिंग की जा रही है। इन अव्यवस्थाओं के बीच झूठे वायदे करके नगर में प्रचार-प्रसार के जरिए प्लाटिंग की जा रही है। जबकि कॉलोनी में मंदिर, पार्क, स्कूल आदि का हवाला देने की तक बात की जा रही है, लेकिन मौके पर ऐसा कुछ देखने को नहीं मिल रहा है।

कॉलोनी में अनियमितताओं और अव्यवस्थाओं का डेरा


प्लाट खरीदने जाने वाले व्यक्ति जब मौके पर पहुंचते है तो उसे तमाम सुविधाओं की जानकारी दी जाती है और कई तरह के सपने दिखाए जाते हैं। मगर उन्हें मुख्य बात यह नहीं बताई जाती कि कॉलोनी से निकलने वाले पानी की भविष्य में कहां से निकासी होगी और पेयजल लाइन, नामांतरण की प्रक्रिया क्या होगी। कालोनी काटने वाले कुछ विशेष जानकारों ने बताया कि नियमानुसार नगर के सीएमओ एवं अनुविभागीय अधिकारी राजस्व से कॉलोनाइजरों द्वारा कोई परमिशन नही ली गई है। इस बारे में जब प्लाटिंग करने वालों से कॉलोनी में सुख-सुविधाओं एवं शासन द्वारा मिलने वाली मंजूरियों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि हमारे पास सभी तरह की परमिशन हैं जिसके जरिए हम प्लाट बेंच रहे हैं।

इनका कहना है


आरोन नगर में अवैध कालोनी काटने वालों के खिलाफ कार्यवाही की जा रही है। श्रीजीपुरम कॉलोनी की मैं जानकारी लेकर शीघ्र कार्यवाही करूंगा। अगर नियम विरूद्ध कॉलोनी में प्लॉटिंग की जा रही है तो संबंधितों के खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी।    - हरिप्रसाद जाटव, सीएमओ नगर परिषद आरोन

Post a Comment

0 Comments