हाँ मैं कुत्ता हूँ, सुन लीजिए कमलनाथ जी मैं कुत्ता हूँ अपनी जनता का- ज्योतिरादित्य सिंधिया


CLICK -

भोपाल। (प्रदेश केसरी) मध्य प्रदेश उप चुनाव में भाषा की मर्यादा के तार ऐसे टूटे कि अब राजनैतिक पार्टियों के नेता अमर्यादित शब्दों से बिल्कुल ही परहेज नहीं कर रहे है। वही शनिवार को राज्य सभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अशोकनगर के शाढौरा में भाजपा प्रत्याशी जजपाल सिंह जज्जी के समर्थन में सभा के दौरान कुछ ऐसा कह दिया कि सभी स्तब्ध रह गए। सिंधिया ने कहा, 'कमलनाथ जी यहां आते हैं और कहते हैं कि मैं कुत्ता हूं।' कमलनाथ जी, सुन लीजिए। हां, मैं कुत्ता हूं, क्योंकि मेरा मालिक मेरी जनता है, जिसकी मैं सेवा करता हूं। कुत्ता अपने मालिक और अपने दाता की रक्षा करता है। हां, कमलनाथ जी मैं कुत्ता हूं, कोई भी व्यक्ति मेरे मालिक के साथ भ्रष्टाचार करेगा और उसे अंगुली दिखाएगा, तो कुत्ता उसे काटेगा।
दरअसल, शुक्रवार को अशोकनगर में आयोजित सभा में कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णन ने अपने भाषण में कुत्ते का जिक्र किया था। कृष्णन ने कहा था कि जिस तरह से एक पिल्ले की रक्षा के लिए कुत्ता आगे आ जाता है, उसी तरह से यहां के विधायक को कार्रवाई से बचाने के लिए कुत्ता आ गया था। इस सभा के मंच पर कमलनाथ भी उपस्थित थे। माना जा रहा है कि उनका इशारा सिंधिया की तरफ था। शाढौरा में आयोजित सभा में सिंधिया ने कमलनाथ पर इसी बात का पलटवार किया है।
इस दौरान ज्योतिरादित्य ने कहा, 'कमलनाथ विश्व स्तर के उद्योगपति हैं, मगर प्रदेश में एक उद्योग स्थापित नहीं हुआ। हालांकि, वल्लभ भवन में जो कि लोकतंत्र का मंदिर है, उसमें कमलनाथ ने ट्रांसफर उद्योग शुरू कर दिया था। एक-एक व्यक्ति के लिए बोली लगती थी। बोरियों में वल्लभ भवन से रात को रुपया निकलता था। इसी के खिलाफ मैं सड़क पर उतर गया और भ्रष्टाचारी सरकार को धूल चटाने का काम किया। मैंने सही किया न?' वही सभा को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी संबोधित किया। लेकिन ज्योतिरादित्य सिंधिया की कुत्ते वाले बयान से सभी चौंक गए और सभा में सन्नाटा सा छा गया। 

Post a Comment

0 Comments