दीपोत्सव: बाजार में भीड़ बढऩे से संक्रमण का खतरा बढ़ा

लंबे समय से मंदी झेल रहा बाजार में आई रौनक



CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) दीपावली का त्योहार कल से शुरू होने जा रहा है, ऐसे में त्योहार को लेकर तैयारी शुरू हो चुकी है। बाजार गुलजार नजर आ रहे हैं। खरीददारी के लिए बाजारों में ग्राहकों की भीड़ बढऩे लगी है। दुकानदारों को उम्मीद है कि त्योहारों पर बड़ी संख्या में खरीददार पहुंचेंगे। नवरात्र और करवा चौथ पर बाजार में व्यापारियों की अच्छी बिक्री रही जिसे लेकर वह काफी उत्साहित नजर आ रहें हैं। इसलिए दीपावली पर दुकानों पर एक बार फिर भीड़ होने की उम्मीद की जा रही है। इन सबके बीच कोरोना संक्रमण बढ़ने से इंकार नहीं किया जा सकता।
दीपावली पर बर्तन बाजार, आभूषण बाजार, आटो मोबाइल सेक्टर तथा गारमेंट की दुकानों पर खूब धूम होती है। आजकल बाजारों में धीरे-धीरे भीड़ बढऩी शुरू हो गई है। मोबाइल व्यापारी संकेत जैन ने बताया कि छह माह बाद बाजार में खरीददारों की रौनक देखने को मिल रही है। त्योहारों के कारण लोगों का बाजार की ओर रुझान बढ़ा है और वे खरीददारी कर रहे हैं। वहीं करवाचौथ में मंदी थी, लेकिन अब दीपावली पर अच्छा व्यापार होने की उम्मीद है। ग्राहक कोविड-19 का पालन करें। इसके साथ ही ऑनलाइन बाजार के कारण मोबाइल मार्केट में काफी प्रभाव पड़ा है।

ट्रैफिक का दबाव बढ़ा


उधर शहर में ट्रैफिक की समस्या लगातार बड़ा रूप ले रही है। वर्तमान में तो मार्केट में भीड़ होने के कारण वाहन चालकों को परेशानी होती है। इसके अलावा शहर हनुमान चौराहा, तेलघानी, एबी रोड स्थित बैंकों के आगे, जयस्तंभ चौराहा, लक्ष्मीगंज, पुरानी सब्जी मंडी, हाट रोड से नीचला बाजार, सदर बाजार आदि में यातायात व्यवस्था बिगड़ रही है। सबसे अधिक समस्या तेलघानी चौराहे पर आ रही हैं। यहां नानाखेड़ी मंडी से उपज बेचकर ट्रेक्टर-ट्रॉली पुरानी गल्ला मंडी प्रांगण पहुंचते हैं। जिसके चलते यहां भारी वाहनों से जाम की समस्या बार-बार बनती देखी गई है। इस कारण यहां ट्रैफिक का दवाब सबसे ज्यादा रहता है।

कोरोना से बचाव भी जरूरी


बाजार धीरे-धीरे जिस तरह से गुलजार हो रहे हैं, उसी हिसाब से बाजारों में कोरोना संक्रमण का खतरा बढऩा लाजमी है। गुना जिला में कोरोना संक्रमण मरीजों की संख्या एक हजार को पार कर चुकी है। प्रतिदिन 10 से 15 पॉजीटिव केस अब सामने आने लगे हैं। इसलिए खरीदी के लिए आने वाले लोगों और दुकानदारों को ज्यादा सतर्कता बरतने की जरूरत होगी। मास्क पहनना और सुरक्षित दूरी का पालन करना हर दुकानदार के लिए जरूरी होगा।

गुरुवार से पर्व की शुरुआत


इस बार शनिवार को दीपावली है। 12 नवंबर को धनतेरस से पांच दिवसीय दीपोत्सव की शुरुआत होगी। 13 नवंबर रूपचौदस, 14 नवंबर को महालक्ष्मी पूजन, 15 नवंबर को पड़वा/गोवर्धन पूजा, 16 नवंबर को भाईदूज के साथ उत्सव का समापन होगा। उत्सव को लेकर व्यापारियों ने खास तैयारियां की है। घर, दुकानों व प्रतिष्ठानों पर रंग-रोगन, साफ-सफाई के बाद अब सजावट का सिलसिला प्रारंभ हो गया है। हर कोई दीपोत्सव को खास बनाने की तैयारी में जुटा हुआ है।

Post a Comment

0 Comments