हाट रोड विवाद मामले में किसानों की गिरफ्तारी, कांग्रेस और अन्य संगठनों ने एसपी को सौंपा ज्ञापन

भारत बंद के दौरान भाजपा समर्थक की दुकान पर झड़प के बाद हुई थी एफआईआर


CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) किसान आंदोलन के समर्थन में मंगलवार को आयोजित भारत बंद के दौरान हाट रोड पर हुए विवाद में हुई एफआईआर के मामले में सिटी कोतवाली पुलिस ने शनिवार को दो किसानों को उठाया। इस दौरान उनमें से कुछ के ट्रेक्टर-ट्रॉली भी पुलिस ने जप्त किए हैं। कांग्रेस और कम्युनिष्ट सहित अन्य संगठनों ने किसानों की गिरफ्तारी का विरोध करते हुए पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा। इधर पुलिस ने गिरफ्तार किसानों को न्यायालय में पेश किया। जहां अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वयक समिति द्वारा उनकी जमानत की तैयारियां की जाती रही।
दरअसल भारत बंद के दौरान हाट रोड पर भाजपा नेता अनिल रूपश्री की दुकान पर कुछ कांग्रेस नेताओं और किसानों ने जबरन बंद कराने की कोशिश करते हुए हाथापाई का मामला सामने आया था । जिसके बाद पुलिस ने फरियादी अनिल जैन की शिकायत पर किसान कांग्रेस अध्यक्ष सहित आठ-दस किसानों पर विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया था। जिसके बाद शनिवार को सिटी कोतवाली पुलिस ने उक्त प्रकरण के तीन किसानों को गिरफ्तार कर लिया। जिसकी जानकारी लगते ही कांग्रेस सहित अन्य आंदोलनकारियों ने विरोध शुरू कर दिया। घटना के विरोध में समन्वय समिति के बैनर तले पुलिस अधीक्षक को एक ज्ञापन सौंपा गया। जिसमें चेतावनी दी गई कि यदि 7 दिवस के अंदर प्रकरण वापस नहीं लिया गया तो समन्वय समिति आंदोलन करेगी। ज्ञापन में कहा गया कि गुना में आंदोलन शांतिपूर्ण तरीके से किया जा रहा था। दुकानदार भी बंद के समर्थन में अपनी दुकानें बंद कर रहे थे। परंतु हाट रोड पर भाजपा समर्थक एक व्यापारी द्वारा जानबूझ कर आंदोलनकर्ताओं को अपशब्द कहे और गालियां दीं गई थी। ज्ञापन देने वालों में अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वयक समिति के सदस्य डॉक्टर विष्णु शर्मा, राकेश मिश्रा, हरिशंकर विजयवर्गीय , शेखर वशिष्ठ, लोकेश शर्मा,  मानसिंह परसोदा ,योगेंद्र शर्मा, सीमा यादव, बिंदु सिंह आदि शामिल रहें।

Post a Comment

0 Comments