कोरोना के चलते प्रदेश में आर्थिक संकट, फिर भी विकास के लिए पैसों की कमी नहीं- पंचायत मंत्री श्री सिसौदिया

चंदेरी के राजघाट से बमोरी में लाएंगे पेयजल, पत्रकार वार्ता में बोले मंत्री श्री सिसौदिया


CLICK -

गुना। (प्रदेश केसरी) कोरोना काल के चलते प्रदेश में आर्थिक संकट है, लेकिन इन हालातों के बावजूद भी प्रदेश के मुख्यमंत्री विकास कार्यों के लिए पैसों की व्यवस्था लगातार कर रहे हैं। हमारे कोई काम नहीं रूक रहे हैं। पूर्व सीएम की तरह वर्तमान सीएम पैसा नहीं होने का रोना नहीं रोते हैं। बमोरी के विभिन्न गांवों में पेयजल समस्या को दूर करने करीब 2700 करोड़ रुपए की पेयजल योजना स्वीकृत हो चुकी है। हम चंदेरी के राजघाट बांध से बमोरी एवं गुना में पेयजल लाएंगे। इस योजना के लिए 1270 करोड़ रुपए स्वीकृत हो चुके हैं। चुनाव पूर्व 461 करोड़ रुपए के विकास कार्यों का भूमिपूजन सीएम कर चुके हैं। उक्त बात प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया ने रविवार को पत्रकारों से रूबरू होते हुये कही। इस मौके पर उन्होंने कहा कि बमोरी विधानसभा में पेयजल की इतनी बड़ी योजना प्रदेश का पहला सबसे बड़ा इस तरह का प्रोजेक्ट है। इसके अलावा सड़कें, सीसी खंरजे, नालियों सहित अन्य मूलभूत विकास कार्यों के लिए 30 करोड़ रुपए की राशि मेरे विभाग द्वारा स्वीकृत कराए जा चुके हैं।
श्री सिंह ने बताया कि क्षेत्र में 150 करोड़ रुपए की लागत से ट्रेनिंग सेंटर बनाया जा रहा है। जिसमें विभिन्न ट्रेड का प्रशिक्षण युवाओं को देकर स्वरोजगार से जोड़ा जाएगा। प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने की तैयारी की जा रही है। इसको लेकर मेरी 10 दिसंबर को सीएम के साथ समीक्षा बैठक है। रोजगार को बढ़ावा देने के लिए स्वसहायता समूहों को मजबूत किया जाएगा। श्री सिसौदिया ने कहा कि बमोरी में ऐसी कृषि से संबंधित फैक्ट्रियां लगाएंगे जो किसानों की उपज खरीदकर उसकी मार्केटिंग राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कर सके। जैसे कि क्षेत्र की प्रमुख फसलें मक्का और सोयाबीन से बहुत चीज बनती हैं। हम इसका प्लांट यही लगाएंगे। यह सारा काम हम स्व सहायता समूह के माध्यम से करेंगे। जिससे ग्रामीण लोगों को रोजगार मिल सके। इसके अलावा आर्थिक उन्नति के लिए स्व-सहायता समूहों को आगे बढ़ाया जाए। जिससे गांवों में रोजगार के साथ विकास हो सके। इस मौके पर उन्होंने गुना के ड्रीम्स प्रोजेक्ट में रिंग रोड, ऑडिटोरियम आदि हैं।
पंचायतों से गायब टीवी एवं कम्प्यूटरों की होगी जांच
पंचायतों से टीवी एवं कम्प्यूटर गायब होने के सवाल पर श्री सिसौदिया ने कहा कि इसके जांच के आदेश दिए जाएंगे। वहीं प्रदेश की समस्त ग्राम पंचायत को हाईटेक बनाया जाएगा। अभी प्रदेश में आधी ही ग्राम पंचायतें इंटरनेट से जुड़ी हैं। श्री सिंह ने बताया कि सहरिया आदिवासी वर्ग के लिए विशेष पैकेज की मांग हमारे द्वारा की गई है। जिसमें एसटी-एससी वर्ग की समस्त महिलाओं को एक-एक हजार रुपए मिलने की मांग शामिल हैं। गांवों में अधिक आवास योजना का लाभ मिले। इसके लिए हमारे द्वारा केंद्रीय मंत्री से तीन माह और आवास योजना का पोर्टल खोलने की मांग की गई है। श्री सिंह ने बताया कि उन्होंने ग्राम पंचायत सचिव एवं रोजगार सहायकों को प्रति सोमवार एवं गुरुवार को गांवों में उपस्थित रहने का आदेश दिया है।


विकास के लिए जब गिड़गिड़ाएं विधायक तो बोले मंत्री, गोपी दादा तो पुराने चावल हैं


पत्रकार वार्ता के दौरान मंत्री श्री सिंह के साथ गुना विधायक गोपीलाल जाटव, भाजपा जिलाध्यक्ष गजेन्द्र सिंह सिकरवार, हरि सिंह यादव,विट्ठलदास मीना आदि भी मंचासीन रहे। इस दौरान विधायक श्री जाटव ने बजरंगगढ़ को नगर परिषद बनाने की मांग मंत्री श्री सिंह के समक्ष रखी। इस दौरान उन्होंने हाथ जोड़ते हुए कहा कि मंत्रीजी हमारे सब कुछ हैं। मंत्रीजी हम पर कृपा कर आज पत्रकार बंधुओं के समक्ष घोषणा करें। इस मौके पर श्री जाटव ने कहा कि गुना को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए विभिन्न बिंदुओं पर एक मांग पत्र सीएम, मंत्रीजी एवं कलेक्टर को दिया है।

Post a Comment

0 Comments